Wednesday, November 30, 2022
HomeEducationUP News: यूपी शिक्षा विभाग में क्लर्क तबादलों में गड़बड़ी करने के...

UP News: यूपी शिक्षा विभाग में क्लर्क तबादलों में गड़बड़ी करने के दो बड़े अधिकारी मिले दोषी, दोनों रिटायर

UP News: , ब्यूरो। प्रदेश बेसिक व माध्यमिक शिक्षा विभाग के लिपिकों के तबादलों में गड़बड़ी करने पर दो बड़े अधिकारी भी दोषी मिले हैं। अपर शिक्षा निदेशक बेसिक ललिता प्रदीप व सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक नंदलाल को तबादलों में अनियमितता पर प्रथम दृष्टया दोषी पाया गया है। हो हैं। विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई शुरू करने के आदेश दिए गए हैं। बेसिक शिक्षा अवधेश कुमार तिवारी को जांच अधिकारी बनाया गया है।

महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने 13 अगस्त को शासन को पत्र सौंपा। इसमें 2022-23 समूह ग कार्मिकों के स्थानांतरण में हुई अनियमितता का उल्लेख करते हुए अवगत कराया कि कर्मचारियों का तबादला ऐसे स्थान पर किया गया जहां पर पद रिक्त नहीं हैं।

ऐसे कर्मचारियों का स्थानांतरण किया जो निलंबित चल रहे हैं। यह भी लिखा कि समूह ग कार्मिकों के स्थानांतरण में शासनादेश का अनुपालन नहीं किया गया। कार्मिकों से साठगांठ करके तबादलों में अनियमितता के लिए दोषी अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की संस्तुति की।

शिक्षा के विशेष सचिव आरवी सिंह की ओर से जारी आदेश में तत्कालीन अपर शिक्षा निदेशक बेसिक उप्र प्रयागराज ललिता प्रदीप को प्रथम दृष्टया समूह ग कार्मिकों के तबादलों में नियुक्ति प्राधिकारी के रूप में दायित्वों का निर्वहन न करने व लापरवाही दोषी पाया गया

ऐसे ही आरोप तत्कालीन सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक सेवाएं-दो उप्र प्रयागराज नंदलाल पर भी हैं। दोनों अधिकारी सेवानिवृत्त हो चुके हैं, ऐसे में सीएसआर के अनुच्छेद 351ए के तहत उनके विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई शुरू की जा रही है। मामले में विशेष सचिव बेसिक शिक्षा को पदेन जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है।

See also  सुशील मोदी ने कहा-नीतीश जी ऐसे शिक्षा मंत्री आपको मुबारक, जो किताबों नहीं कारतूसों के शौकीन हैं - Sushil Modi said

व तीन पटल सहायकों हो चुके निलंबित

अपर शिक्षा निदेशक बेसिक अनिल भूषण चतुर्वेदी लिपिकों के तबादलों में गड़बड़ी करने वाले शिक्षा निदेशालय प्रयागराज के प्रधान सहायक ध्रुपराज सिंह, पटल सहायक पवन कुमार, संजय सोनी व अमर प्रताप सिंह को निलंबित कर चुके हैं। इसके अलावा 12 मंडलों से गलत सूचना भेजने वाले कनिष्ठ सहायकों पर कार्रवाई करने का निर्देश एडी बेसिक को दिया है। से रिपोर्ट मिलने पर संबंधित पटल सहायकों पर कार्रवाई होगी।

1036 हुआ तबादला

बेसिक व माध्यमिक शिक्षा के मंडल व जिला कार्यालयों में तैनात लिपिकों का वार्षिक स्थानांतरण नीति के तहत जून में कुल 1036 लिपिकों का तबादला हुआ। इनमें से करीब 45 प्रतिशत लिपिक ऐसे थे जो एक ही कार्यालय में 10 वर्ष से अधिक समय से जमे थे। लिपिकों ने तबादलों में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया, जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित की गई। सामने आया कि 124 लिपिकों का गलत स्थान पर तबादला हुआ। 130 लिपिकों के तबादलों में संशोधन करने पर सहमति बनी, आदेश करीब 95 ही हुए हैं।

Edited by: Umesh Tiwaric

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments