Sunday, November 27, 2022
HomeEducationTwo Day National Seminar From Tomorrow At Mppg College - गोरखपुर: एमपीपीजी...

Two Day National Seminar From Tomorrow At Mppg College – गोरखपुर: एमपीपीजी कॉलेज में दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी कल से, देश भर से जुटेंगे विद्वान


MP College
– : उजाला।

सुनें

महाराणा प्रताप महाविद्यालय, जंगल धूसड़ में बीएड विभाग और उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान की ओर से 15 एवं 16 अक्तूबर को राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। इस दौरान देश भर के विद्वान जुटेंगे और राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 पर मंथन कर बहुमूल्य सुझाव देंगे।

राष्ट्रीय संगोष्ठी की आयोजन समिति की संयोजक एवं सचिव शिप्रा सिंह ने बताया कि ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति एवं उसका कार्यान्वयन’ विषय पर केंद्रित इस आयोजन में दो दिन तक पर देश के ख्यातिलब्ध विद्वान अपने शैक्षिक अनुभव को परस्पर करेंगे। शिक्षा नीति के आलोक में संगोष्ठी के निष्कर्ष को व्यावहारिक रूप में लागू भी किया जाएगा।

इस आयोजन में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद से जुड़े सभी शिक्षण संस्थानों के प्रमुख विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। राष्ट्रीय शिक्षा नीति में प्रारंभिक बाल्यावस्था की शिक्षा से लेकर वैश्विक स्तर तक भारत की भूमिका जैसे कुल 21 उप विषयों या शीर्षकों पर शोध प्रपत्र भी प्रस्तुत किए जाएंगे।

रहेगी मौजूदगी
अनुदान आयोग (यूजीसी) के पूर्व अध्यक्ष एवं उत्तर के शिक्षा सलाहकार प्रो. , भीमराव केंद्रीय विश्वविद्यालय लखनऊ के कुलपति प्रो. , राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की ड्राफ्टिंग कमेटी के सदस्य एवं जेएनयू में सेंटर ऑफ पर्सियन एंड सेंट्रल एशियन स्टडीज के प्रो. , उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के पूर्व प्रो. प्रसाद गुप्त, पॉलिसी रिसर्च एंड गवर्नेंस नई दिल्ली के डायरेक्टर डॉ रामानंद, महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय मोतिहारी बिहार के प्रो. आशीष श्रीवास्तव (डीन, स्कूल ऑफ एजुकेशन), शकुंतला मिश्रा पुनर्वास विश्वविद्यालय में शिक्षा की डीन प्रो. सिंह, आंबेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय, के प्रो. समेत कई शिक्षाविदों का मार्गदर्शन इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में प्राप्त होगा।

See also  Discussion On Economy, Research And New Education Policy - अर्थ व्यवस्था, शोध और नई शिक्षा नीति पर की गई चर्चा

विस्तार

महाराणा प्रताप महाविद्यालय, जंगल धूसड़ में बीएड विभाग और उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान की ओर से 15 एवं 16 अक्तूबर को राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। इस दौरान देश भर के विद्वान जुटेंगे और राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 पर मंथन कर बहुमूल्य सुझाव देंगे।

राष्ट्रीय संगोष्ठी की आयोजन समिति की संयोजक एवं सचिव शिप्रा सिंह ने बताया कि ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति एवं उसका कार्यान्वयन’ विषय पर केंद्रित इस आयोजन में दो दिन तक पर देश के ख्यातिलब्ध विद्वान अपने शैक्षिक अनुभव को परस्पर करेंगे। शिक्षा नीति के आलोक में संगोष्ठी के निष्कर्ष को व्यावहारिक रूप में लागू भी किया जाएगा।

इस आयोजन में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद से जुड़े सभी शिक्षण संस्थानों के प्रमुख विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। राष्ट्रीय शिक्षा नीति में प्रारंभिक बाल्यावस्था की शिक्षा से लेकर वैश्विक स्तर तक भारत की भूमिका जैसे कुल 21 उप विषयों या शीर्षकों पर शोध प्रपत्र भी प्रस्तुत किए जाएंगे।

रहेगी मौजूदगी

अनुदान आयोग (यूजीसी) के पूर्व अध्यक्ष एवं उत्तर के शिक्षा सलाहकार प्रो. , भीमराव केंद्रीय विश्वविद्यालय लखनऊ के कुलपति प्रो. , राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की ड्राफ्टिंग कमेटी के सदस्य एवं जेएनयू में सेंटर ऑफ पर्सियन एंड सेंट्रल एशियन स्टडीज के प्रो. , उत्तर हिंदी संस्थान के पूर्व अध्यक्ष प्रो. प्रसाद गुप्त, फॉर पॉलिसी रिसर्च एंड गवर्नेंस नई दिल्ली के डायरेक्टर डॉ रामानंद, महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय मोतिहारी बिहार के प्रो. आशीष श्रीवास्तव (डीन, स्कूल ऑफ एजुकेशन), शकुंतला मिश्रा पुनर्वास विश्वविद्यालय में शिक्षा की डीन प्रो. रंजन सिंह, आंबेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय, के प्रो. समेत कई शिक्षाविदों का मार्गदर्शन इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में प्राप्त होगा।

See also  1 year of Amazon Future Engineer in India providing computer science education to over 4.5 Lakh students


RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments