Sunday, February 5, 2023
HomeEducationSirmour News:खेलों में कॅरियर बनाने का विद्यार्थियों का सपना हो रहा धूमिल...

Sirmour News:खेलों में कॅरियर बनाने का विद्यार्थियों का सपना हो रहा धूमिल – In Saranha College No Sports Facility


How to earn your money Yes

सचित्र-05

खेलों कॅरिअर बनाने का विद्यार्थियों का सपना हो रहा धूमिल धूमिल धूमिल धूमिल धूमिल

खेलों बारीकियां नहीं समझ पा पा ike हैं हैं सराहां कॉलेज के विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी विद्यार्थी

कॉलेज सरकार ने शारी शारी ie शिक्षा का पद ही नहीं किय किया सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित सृजित

How does it work?

सराहां (सिरमौर)। केंद्र ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में रोजगार परक देने पर पर जोर है ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।। स्कूल में शारी शारी शारी शारी शिक्षा की पढ़ाई भी शुरू की है ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। इसका विद्यार्थियों को मिलने भी भी लगा है लेकिन कई कई स्कूल कॉलेज भी हैं हैं जह जह जह जह इसका सीधा खेलों में रूचि रखने वाले विद्यार्थियों को उठाना रहा है ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।। ।।

यही पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सराहां मॉडल कॉलेज का है ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।। सरकार यहां शारी शारी ie शिक्षा का ही ही सृजित नहीं नहीं किया है।।।।।।।।।।।।।।।। from 360% to 360% of the costs इनमें संख्या उन विद्यार्थियों की है जो ग ग ग क्षेत् reng आते आते हैं औ 0

यहां शिक्षा का पद रिक्त होने से खेलों में में कॅरिय कॅरिय कॅरिय कॅरिय बनाने सपना इन विद्यार्थियों का धूमिल हो ह ह ह है है ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ।।।।।।।।।।।।।।।। ऐसे कई विद्या विद्या विद्या विद्या हैं हैं हैं जिन्होंने शारी शारी शारी शारी का पद न होने के कारण जिले केरे कॉलेजों में दाखिला लिया है ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। ।।।।।।। हालांकि उनको इसका खामियाज who

अभिभावक राजकुमार राजकुमार, धनवीर सिंह, रमेश कुमार, बलदेव, प्रेमपाल, सिंह और और संजीव शर्मा ने कहा कि सरकार और को यहां जल्द से जल्द शारीरिक शिक्षा पद करना ताकि विद्यार्थी खेलों की की समझ।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।

See also  No homework for students of Classes 1 to 4: Deepak Kesarkar

राष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी देवांशु शर्मा ने कहा कि सराहां कॉलेज में यदि शारीरिक शिक्षा विषय होता तो वह यहां दाखिला लेता लेता न होने से नाहन कॉलेज में प्रवेश लेना।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।। सराहां कॉलेज के प्राच प्राच प्राच प्राच प्राच प्राच प्राच प्राच कहा शारी शारी शारी शारी शारी का पद पद सृजित करने को लेकर पूर्व सरकार को लिखा चुका था था था नई सरकार भी मांग खी खी खीज खी खी खीज खी खी खी खी खी खी नई भी भी म खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खीज खीज खीज खीज खी खी खी खीज खीज खीज खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खी खीज खी खी खीज खी खी खीज खी खी खीज खी खी खीज खी खी खी खी खीज खी खी खी खी खी खीज खी खी °

-देवराज-तन्हा

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments