Wednesday, November 30, 2022
HomeEducationLucknow News : तकनीक की मदद से गांव तक खोले जा सकते...

Lucknow News : तकनीक की मदद से गांव तक खोले जा सकते हैं शिक्षा के दरवाजे, न्यू एजुकेशन पॉलिसी पर हुआ सेमिनार – doors can be opened to villages with the help of technology vea conducted seminar under new education policy

: केंद्र सरकार के साथ-साथ उत्तर प्रदेश की सरकार भी नई शिक्षा नीति पर जोर दे रही है। वहीं ग्रामीण इलाकों में जागरूकता और कैसे इसे बेहतर किया जाए इसपर तेजी से काम किया जा रहा है। क्रम में शनिवार को लखनऊ के गोमती नगर स्थित होटल में विश्वगुरु एजुकेशन अकादमी ने एजुकेशन रिअमेजिन्ड के तहत सेमिनार आयोजित किया गया। VEA शिक्षा के साथ भारतीय संस्कृति, परम्पराओं और संस्कारों पर विशेष ध्यान देती है। दौरान यूपी के पूर्व मुख्यसचिव आलोक रंजन ने कहा कि वर्तमान सरकार के द्वारा बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

के लिए होंगे मददगार
रंजन ने कहा कि शिक्षा एक ऐसा हथियार है जिससे सभी बुराइयों से लड़ा जा सकता है। सरकार भी बेहद सजक है। सरकार के इन प्रयासों को कैसे सफल बनाया जाये इस पर सभी को न सिर्फ सोचना है बल्कि आगे बढ़कर कुछ योगदान भी देना है। में सुधार के सरकारी प्रयासों को सफल बनाने में सब को जुटना होगा।

शिक्षा नीति को ध्यान में रखते हुए विश्वगुरु एजुकेशन एकेडमी के एजुकेशन टूल्स काफी मददगार साबित होंगे। दूरदराज के गांवों में अच्छी शिक्षा के दरवाजे तकनीक की मदद से खोले जा रहे हैं। के एजुकेशन टूल्स से बच्चों में पढ़ाई के साथ साथ भारतीयता की भावना भी पैदा होगी और वो अपनी परम्पराओं व संस्कारों से आसानी से परिचित होंगे।

से भी कराया जायेगा परिचय
रंजन ने कहा कि विश्वगुरु एजुकेशनल एकेडमी एडवांस टेक्नोलॉजी का प्रयोग कर भारतीय मूल्यों पर आधारित शिक्षा प्रणाली को विकसित कर रही है, यह प्रशंसनीय है। मूल्यों और आधुनिक सोच पर केन्द्रित ऐसी शिक्षा से हम समाज में सुखद बदलाव ला सकते हैं। इसके साथ ही VEA के संस्थापक मुकेश पाण्डेय ने कहा कि सरकार की नई शिक्षा नीति भी बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के सपने दिखाती है। सरकार की शिक्षा नीति को ध्यान में रखते हुए बच्चों के लिए एजूकेशन टूल्स बनाए हैं। एजूकेशन टूल्स बच्चों को न सिर्फ पढ़ाई में आगे रखेंगे बल्कि उन्हें अपने संस्कारों परम्पराओं व गौरवशाली अतीत से परिचय भी करायेंगे।

See also  Bihar CM Nitish Kumar Challenge To PM Narendra Modi In Lok Sabha Elections From Prayagraj Phoolpur Seat Against BJP Ann

साथ इसपर भी दिया गया जोर
स्कूल व बच्चे अपनी-अपनी जरूरतों के अनुसार इस्तेमाल कर सकते हैं। यह बच्चों व शिक्षकों के बीच बेहतर तालमेल बैठाते हुए निर्धारित पाठ्यक्रमों को आगे बढ़ाते हैं। विश्वगुरु एजुकेशन अकादमी के एजुकेशन टूल्स पढ़ाई के साथ-साथ भारतीयता और गौरवशाली परम्पराओं से भी परिचय कराते हैं।

इस सेमिनार में आईआईएम लखनऊ के प्रोफेसर देबाशीष दास गुप्ता, बीएचयू में संस्कृत प्रोफेसर शारदिन्दु कुमार त्रिपाठी, लखनऊ विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर अरविंद शुभंकर भट्टाचार्य, वीईए के मेंटर कौशिक भट्टाचार्य ने भी शिक्षा में आ पर अपने विचार व्यक्त किए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments