Saturday, November 26, 2022
HomeBreaking NewsLive: ईदगाह ग्राउंड पर गणेशोत्सव का मामला, कर्नाटक हाई कोर्ट कर रहा...

Live: ईदगाह ग्राउंड पर गणेशोत्सव का मामला, कर्नाटक हाई कोर्ट कर रहा सुनवाई, अगले कुछ म‍िनटों होगा फैसला

: कर्नाटक हाई कोर्ट आज रात 10 बजे से हुबली-धारवाड़ के ईदगाह मैदान में गणेश चतुर्थी पूजा की अनुमति देने वाले आदेश को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई कर रहा है। अशोक एस किनागी के चैंबर में सुनवाई हो रही है। इससे पहले आज सुप्रीम कोर्ट ने बैंगलोर के दूसरे ईदगाह मैदान में यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया था।

याचिकाकर्ता अंजुमन-ए-इस्लाम के वकील ने बेंगलुरु ईदगाह मैदान में गणेश उत्सव के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के आदेश जिक्र किया। संबंध में इसी तरह के आदेश की भी बात की। राज्य के लिए एएजी ध्यान चिन्नप्पा न कहा क‍ि बैंगलोर मामले (चचमराजपेट संपत्ति) में चुनौती सरकार के आदेश की थी। एक विवादित सवाल है क्योंकि वक्फ अपने मालिकाना हक के दावे को साबित नहीं कर सका। में यह सवाल नहीं है। में काफी पहले मुकदमा दायर किया गया था।

Live updates:

: पहली बार हुआ है। यह नहीं कह रहा हूं कि उनके पास अधिकार या शक्ति नहीं है। संपत्ति है लेकिन इस समय नहीं।

: किसे निर्णय लेना चाहिए? घंटे का समय दीजिए, आदेश पारित करूंगा।

एसजीः नरगुंडः सुप्रीम कोर्ट का आदेश मिसाल नहीं है

: के पारित आदेश पढ़ें। के अधीन और तीन दिनों के लिए दी गई है।

:
हम कानून और व्यवस्था बनाए रखेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि यह कार्य बिना किसी के हस्तक्षेप के हो।

: उत्सव को इतनी सख्ती से नहीं लेना चाहिए। सामुदायिक समारोह है और सभी का स्वागत है। अन्य समुदाय के सदस्यों को भी यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे दूसरों के कार्यों में हस्तक्षेप न करें।

See also  Career Horoscope October 25: These zodiac signs including Aquarius are going to get lucky will get new job opportunities

: मालिकाना हक और कब्जे को लेकर कोई विवाद नहीं है। सिर्फ रमजान और बकरीद पर दो दिन #नमाज करने का अधिकार है।

: रूप से निगम के कब्जे में है। अपनी इच्छानुसार उपयोग करने का अधिकार है। वे मेरे द्वारा उल्लिखित दो दिनों के लिए निषिद्ध हैं और वे अदालत में आ सकते हैं लेकिन यदि यह दो दिनों के लिए नहीं है तो यह नहीं हो सकता है

: दिया गया वह लाइसेंस था और सही नहीं। सभी बातों को ध्यान रखते हुए यह आदेश पारित किया है.

: पहली अपील अदालत ने सवाल का जवाब यह कहकर दिया कि क्या संपत्ति वक्फ की है। अदालत ने अपील खारिज कर दी और यहां तक ​​​​ एसएलपी भी खारिज कर दी गई।

कर्नाटक के हुबली-धारवाड़ नगर निगम(एचडीएमसी) ने यहां ईदगाह मैदान में तीन दिनों के लिए गणेश प्रतिमा स्थापित करने की अनुमति देने का फैसला किया था। हुबली-धारवाड़ के महापौर इरेश अचंतगेरी ने निर्वाचित प्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ चली लंबी बैठक के बाद सोमवार देर रात इस फैसले की घोषणा की। उन्होंने बताया कि यह फैसला नगर निकाय द्वारा इस मुद्दे पर गठित सदन की समिति की अनुशंसा पर लिया गया।

नगर निगम ने कहा कि मामले पर फैसला करने के लिए गठित एक हाउस पैनल द्वारा प्राप्त से 28 मैदान में गणेश पंडाल की अनुमति देने के पक्ष में थे, जबकि शेष इसके खिलाफ थे। ने कहा क‍ि सदन की समिति ने कानूनी विशेषज्ञों से परामर्श लेने के बाद गणेश उत्सव की अनुमति देने की अनुशंसा की थी। इसे उत्सव को अनुमति देने के पक्ष में 28 और विरोध में 11 ज्ञापन मिले थे।

See also  On Joe Biden's Most Dangerous Nation Comment, Pak PM Shehbaz Sharif 's Response

ईदगाह मैदान पर गणेश चतुर्थी आयोजन की अनुमति नहीं दी
बैंगलोगर वाले मामले में मंगलवार को जस्टिस इंदिरा बनर्जी एएस ओका और एमएम सुंदरेश की तीन वाली बेंच ने कर्नाटक वक्फ बोर्ड की कर्नाटक उच्च न्यायालय की चुनौती चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई की। दोनों पक्षों को विवाद के समाधान के लिए कर्नाटक उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने को कहा। मामले में हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया क‍ि कर्नाटक सरकार ने 2 दिनों के लिए गणेश चतुर्थी समारोह के लिए मैदान का उपयोग करने की अनुमति दी थी, 31 अगस्‍त और 1 स‍ितंबर के लिए। न अपने आदेश में कहा क‍ि ईदगाह मैदान में बुधवार और गुरुवार को गणेश चतुर्थी उत्सव का आयोजन नहीं किया जा सकता है। कोर्ट ने आगे पार्टियों को इस मुद्दे के निर्णय के लिए कर्नाटक हाई कोर्ट से संपर्क करने के लिए कहा है।

1600 तैनाती:
मैदान के पास की गई व्यवस्था पर डीसीपी बी. निम्बार्गी (पश्चिम मंडल) ने कहा कि पिछले 15 दिनों से बदमाशों पर कार्रवाई की जा रही है। और व्यवस्था सुनिश्चित कर रहे हैं। चतुर्थी की पृष्ठभूमि पर भी हमने सभी समुदाय के नेताओं के साथ शांति बैठक की है। हमने चामराजपेट में लगभग 1600 पुलिस कर्मियों को तैनात किया है। इसके अलावा तीन DCP, 21 ACP, लगभग 49 निरीक्षक, 130 PSI और रैपिड एक्शन फोर्स (RAF) को भी शांति और सद्भाव सुनिश्चित करने के लिए तैनात किया गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments