Saturday, November 26, 2022
HomeBreaking NewsLakhimpur Kheri Case: भारी विरोध के बाद हुआ दलित बहनों का अंतिम...

Lakhimpur Kheri Case: भारी विरोध के बाद हुआ दलित बहनों का अंतिम संस्कार, पढ़ें- अब तक की फुल कवरेज

UP Dalit Sisters murder case: खीरी के निघासन में दो सगी बहनों के साथ बुधवार को हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में गुरुवार देर शाम दोनों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। परिजन को उनकी तीन मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया है। सुबह मामला मीडिया में आने के बाद इस पर दिनभर राजनीति चलती रही। इस मामले के सभी छह आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक दोनों बहनों संग पहले सामूहिक दुष्कर्म किया गया, इसके बाद उनकी रस्सी से गला दबाकर हत्या की गई। को पेड़ से लटका दिया गया।

के (Lakhimpur Kheri Nighasan) में दो बहनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म तथा हत्या के मामले का एससी/एसटी आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा, डीजीपी, जिलाधिकारी लखीमपुर खीरी तथा एसपी लखीमपुर से रिपोर्ट मांगी है।

अंत‍िम

के बाद सगी बहनों की हत्‍या के मामले में द‍िनभर चली उठापठक के बाद देर शाम भारी सुरक्षा बल के बीच शवों का अंत‍िम संस्‍कार कर द‍िया गया। पोस्टमार्टम के बाद उस वक्त एक बार फिर प्रशासन के हाथ पांव फूल गए जब परिवार जनों ने दोनों किशोरियों का अंतिम संस्कार करने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होंगी, बेटियों के शव यूं ही रहेंगे। हालांकि बाद में प्रशासन के मनाने पर परिजन मान गए और उन्होंने स्वेच्छा से अंतिम संस्कार की अनुमति दे दी। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

15 घंटे में पुलिस के हत्थे चढ़े सभी आरोपी

पुलिस के मुताबिक, ये वारदात बुधवार शाम 5 बजे के करीब की है। वारदात करने के बाद सभी आरोपी मौका-ए-वारदात से फरार हो गए। मिलते ही विशेष टीमें घटित कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई। लगातार चली 15 घंटे की कार्रवाई में पुलिस ने सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। इनकी पहचान जुनैद, सोहैल, , हफीज, करीमुद्दीन व छोटू के रूप में हुई है। से एक आरोपित जुनैद को मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली लगी है। पढ़ने लिए .

See also  कपड़े पहनना पसंद नहीं, लेकिन हमेशा फर्स्ट डिवीजन लाता है | First Division passes; bike rides well

तस्वीर नाम

पीड़ित पक्ष की मांग- सभी आरोपितों को मिले फांसी

खीरी के निघासन थाना क्षेत्र में दो सगी बहनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म तथा हत्या के मामले में पीड़ित पक्ष की सभी दोषियों को फांसी पर लटकाने की मांग है। पिता ने कहा कि इस मामले में हमें जल्दी इंसाफ चाहिए। ️ ने रूंधे गले से अपना दर्द भरा पक्ष रखा है। के पिता ने कहा है कि मैं चाहता हूं कि इंसाफ होना चाहिए। (आरोपियों को) होनी चाहिए। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

के बाद गला घोंट पेड़ से लटकाया शव

जिन दो सगी बहनों के शव संदिग्ध हालात में खैर के पेड़ से लटकते मिले थे, उनकी रस्सी से गला कस कर हत्या की गई थी। सामूहिक दुष्कर्म भी किया गया था। गुरुवार को उनके शवों के पोस्टमार्टम के बाद हुई है। पर . , . और . पैनल ने दोनों शवों के पोस्टमार्टम किए। वीडियोग्राफी भी कराई गई।

पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

के बाद हुआ अंतिम संस्कार

दोपहर पोस्टमार्टम के बाद दोनों बहनों के शव परिजन को सौंप दिए गए। पहुंचते, गांव में मातम फैल गया। शव देख परिजन का रो-रोकर बुरा हाल था। साथ ही लोगों में इस घटना को लेकर भारी गुस्सा देखने को मिला। व रिश्तेदार अपनी मांगों को लेकर अंतिम संस्कार न करने पर अड़ गए। के लिए प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी। जिलाधिकारी ने उनकी तीन मांगें पूरी करने का भरोसा दिलाया। परिजन अंतिम संस्कार को तैयार हुए। पुलिस सुरक्षा में दोनों बहनों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

मिलेगी सख्त सजाः डिप्टी सीएम

उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने लखीमपुर कांड मामले में कहा कि अपहरण के बाद दुष्कर्म और हत्या में जुनैद, सोहेल, हाफिजुल, करीमुद्दीन और आरिफ शामिल थे। पहले लड़कियों की गला दबाकर हत्या की गई और फिर उन्हें फांसी पर लटका दिया गया। ऐसा कदम उठाएगी कि उनकी आने वाली पीढिय़ों की आत्मा भी कांप उठेगी। परिवार जाएगा; -ट्रैक कोर्ट के माध्यम से कार्रवाई की जाएगी। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि लखीमपुर की घटना दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। मैं विपक्ष से उम्मीद करता हूं, चाहे अखिलेश यादव हों, प्रियंका गांधी हों या मायावती हों, वे मामला का राजनीतिकरण करने के बजाय परिवार को सांत्वना दें। कानून का राज कायम है। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

See also  Laal Singh Chaddha Box Office: बुरी तरह पिट गई आमिर खान की 'लाल सिंह चड्ढा', 7 दिनों में कमाए महज इतने रुपए

पुलिस प्रशासन और कानून व्यवस्था पर साधा निशाना

में दो सगी बहनों की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या की वारदात पर सियासत गरमा गई है। प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी समेत बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस और भीम आर्मी कई नेता घटना के बाद से ही निघासन से लेकर जिला मुख्यालय पर पोस्टमार्टम हाउस तक डटे रहे। इस घटना को लेकर विपक्षी दलों के नेताओं ने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए सरकार को आड़े हाथों लिया है। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ने जवाब

खीरी के निघासन में दो बहनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म तथा हत्या के मामले का मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग ने कहा है कि प्रथम दृष्टया यह प्रकरण मानव अधिकारों का हनन का प्रतीत होता है। अति आवश्यक तथा गंभीर है। : पुलिस अधीक्षक लखीमपुर खीरी इस प्रकरण पर अपनी रिपोर्ट प्रेषित करें।

एडीजी प्रशांत कुमार को सौंपी जांच

खीरी के निघासन में बुधवार दोहपर में दो सगी बहनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में योगी आदित्यनाथ सरकार बेहद सख्त हो गई है। शामिल छह आरोपितों को पुलिस ने गुरुवार को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार मौके पर पहुंचेंगे। रिपोर्ट सीएम योगी आदित्यनाथ को देंगे। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बाद हत्या, पुलिस की गिरफ्त में छह आरोपी

सगी बहनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हुई हत्या के मामले में पुलिस ने वारदात में शामिल छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। से एक आरोपी पुलिस मुठभेड़ में जख्मी भी हुआ है। में गोली लगी है। का दावा है कि इस पूरी वारदात को कुल छह लोगों ने मिलकर अंजाम दिया और अपनी पहचान सार्वजनिक होने के डर से दोनों बहनों की हत्या कर दी। संजीव सुमन ने गुरुवार को एक औपचारिक प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

See also  150 Crore Repees Fraud In Cooprative Bank. - यूपी कोऑपरेटिव बैंक : 146 करोड़ उड़ाए, महाप्रबंधक समेत 10 अफसर निलंबित, पूर्व बैंक प्रबंधक हिरासत में

अखिलेश और प्रियंका ने कानून-व्यवस्था पर उठाया सवाल

लखीमपुर खीरी के निघासन में अपहरण कर दो सगी बहनों की हत्या के मामले को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राज्य सरकार को कानून के मुद्दे पर घेरा है। घटना को हाथरस कांड से जोड़ते हुए सवाल उठाया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने भी दो सगी बहनों की हत्या को लेकर राज्य सरकार पर तीखा हमला बोला है। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

15 घंटों में पूरी वारदात का पर्दाफाश, पूरी टाइमलाइन

प्रदेश के लखीमपुर खीरी के निघासन क्षेत्र में अगवा कर दो सगी बहनों के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के केस में पुलिस ने गुरुवार को छह आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। इसमें से एक आरोपित की गिरफ्तारी मुठभेड़ के बाद हुई, जिसके पैर में गोली लगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, पहले लड़कियों को गला दबाकर मारा गया, फिर शव को पेड़ पर लटका दिया गया। के मुताबिक यह जघन्य वारदात बुधवार शाम चार से पांच के बीच की है। बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने करीब 15 घंटे में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आइये जानते हैं इन 15 घंटों में पुलिस कैसे इस वारदात का राजफाश किया। पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

Edited by: Dharmendra Pandey


RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments