Wednesday, November 30, 2022
HomeEducationLack Of Teachers Will Be Continued Inspite Of Online Posting. - माध्यमिक...

Lack Of Teachers Will Be Continued Inspite Of Online Posting. – माध्यमिक शिक्षा विभाग: नए शिक्षकों की तैनाती की तैयारी, फिर भी कई जिलों में रहेगी कमी


तस्वीर
– : मीडिया

सुनें

माध्यमिक शिक्षा विभाग 1395 नए शिक्षकों की राजकीय विद्यालयों में ऑनलाइन तैनाती करने जा रहा है। आकांक्षात्मक जिलों से होगी। तैनाती सभी जिलों में नहीं होगी। जिलों में शिक्षकों की कमी बनी रहेगी। विभाग का कहना है कि पदोन्नति व नई भर्ती होते ही खाली पदों पर भी तैनाती कर दी जाएगी।

वर्तमान में विभिन्न जिलों में कुछ विद्यालय ऐसे हैं, जहां मानक के आधे से भी कम शिक्षक हैं। के तो शिक्षक ही नहीं हैं। कुछ विद्यालयों का भी यही हाल है।

शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर पांडेय कहते हैं कि छोटे जिलों में शिक्षकों के बड़ी संख्या में पद खाली हैं। में चिराग लेकर ढूंढने पर भी कोई लेक्चरर नहीं मिलेगा। हमीरपुर के कुरारा इंटर कॉलेज में छात्र संख्या तो बहुत ज्यादा है, लेकिन शिक्षकों के पद खाली हैं। भी कुछ कॉलेजों को छोड़कर बाकी में पद खाली हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ नियमों का हवाला देकर ऑनलाइन महज कुछ जिलों में नियुक्ति की जा रही है, वहीं दूसरी तरफ ऑफलाइन तबादले मनमर्जी किए गए हैं।

है इसलिए अभी पद खाली रहेंगे
शिक्षा विभाग ने लखनऊ, गाजियाबाद व नोएडा जिलों को वीवीआईपी श्रेणी में रखा है। सभी जिलों के साथ नई नियुक्ति नहीं की जा रही। स्थिति तब है जब लखनऊ के कुछ विद्यालयों में शिक्षकों के बड़ी संख्या में पद खाली हैं। के बावजूद खाली पदों पर शिक्षक नहीं भेजे जा रहे।

अपर शिक्षा निदेशक केके गुप्ता शासन की व्यवस्था के अनुसार जिलों में शिक्षकों की तैनाती की जा रही है। लखनऊ समेत जिन जिलों के विद्यालयों में दिक्कत है, वहां भी जल्द ही शिक्षकों की तैनाती की जाएगी।

See also  Director Of Basic Education Shubha Singh Gave Instructions To Prevent Dengue - Lucknow: डेंगू से बचाव के लिए निर्देश, फुल पैंट-शर्ट में ही स्कूल आएं विद्यार्थी

विस्तार

माध्यमिक शिक्षा विभाग 1395 नए शिक्षकों की राजकीय विद्यालयों में ऑनलाइन तैनाती करने जा रहा है। आकांक्षात्मक जिलों से होगी। तैनाती सभी जिलों में नहीं होगी। जिलों में शिक्षकों की कमी बनी रहेगी। विभाग का कहना है कि पदोन्नति व नई भर्ती होते ही खाली पदों पर भी तैनाती कर दी जाएगी।

वर्तमान में विभिन्न जिलों में कुछ विद्यालय ऐसे हैं, जहां मानक के आधे से भी कम शिक्षक हैं। के तो शिक्षक ही नहीं हैं। कुछ विद्यालयों का भी यही हाल है।

शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर पांडेय कहते हैं कि छोटे जिलों में शिक्षकों के बड़ी संख्या में पद खाली हैं। में चिराग लेकर ढूंढने पर भी कोई लेक्चरर नहीं मिलेगा। हमीरपुर के कुरारा इंटर कॉलेज में छात्र संख्या तो बहुत ज्यादा है, लेकिन शिक्षकों के पद खाली हैं। भी कुछ कॉलेजों को छोड़कर बाकी में पद खाली हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ नियमों का हवाला देकर ऑनलाइन महज कुछ जिलों में नियुक्ति की जा रही है, वहीं दूसरी तरफ ऑफलाइन तबादले मनमर्जी किए गए हैं।

है इसलिए अभी पद खाली रहेंगे

शिक्षा विभाग ने लखनऊ, गाजियाबाद व नोएडा जिलों को वीवीआईपी श्रेणी में रखा है। सभी जिलों के साथ नई नियुक्ति नहीं की जा रही। स्थिति तब है जब लखनऊ के कुछ विद्यालयों में शिक्षकों के बड़ी संख्या में पद खाली हैं। के बावजूद खाली पदों पर शिक्षक नहीं भेजे जा रहे।

अपर शिक्षा निदेशक केके गुप्ता शासन की व्यवस्था के अनुसार जिलों में शिक्षकों की तैनाती की जा रही है। लखनऊ समेत जिन जिलों के विद्यालयों में दिक्कत है, वहां भी जल्द ही शिक्षकों की तैनाती की जाएगी।

See also  Big Victory Again In The By-election Under The Leadership Of Cm Yogi - योगी के नेतृत्व में उपचुनाव में फिर बड़ी जीत : गोला गोकर्णनाथ में जीत को प्रतिष्ठा का सवाल बनाकर लड़ी भाजपा


RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments