Sunday, December 4, 2022
HomeBreaking NewsJharkhand Politics Hemant Soren Mla Go To Raipur Chhattisgarh Indigo Flight Booked...

Jharkhand Politics Hemant Soren Mla Go To Raipur Chhattisgarh Indigo Flight Booked – Jharkhand: चार्टर्ड प्लेन में बैठकर छत्तीसगढ़ के रायपुर पहुंचे यूपीए विधायक, हेमंत सोरेन ने दिया ये बड़ा बयान

सुनें

सियासी संकट लगातार बरकरार है। हेमंत सोरेन को अपने विधायकों की टूट का डर इस कदर सताया है कि वे उनका साथ नहीं छोड़ रहे हैं। विधायकों को छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर शिफ्ट कर दिया गया है। चार्टर्ड फ्लाइट बुक की गई थी। सीएम सोरेन ने विधायकों की एकता को लेकर बयान दिया। कि कोई अनहोनी नहीं होगी। परिस्थिति का सामना करने के लिए सत्ता पक्ष तैयार है। तहत कार्य किए जा रहे हैं। उसी रणनीति की छोटी सी झलक पहले और आज सभी ने देखा, आगे भी कई चीजें देखने को मिलेंगी। षड्यंत्रकारियों को जवाब सत्ता पक्ष तरीके से देगी।

उन्होंने कहा, “हम हर चीज के लिए तैयार हैं, स्थिति हमारे नियंत्रण में है। इससे पहले सोरेन अपने सभी विधायकों को रांची से लगभग पहुंचे थे और लतरातू बांध के पास एक झील में नाव की सवारी के लिए जाते देखे गए i

से विधायक पहुंचे रायपुर
सीएम आवास में एक बार फिर से महागठबंधन के सभी विधायकों को बुलाया गया। जगन्नाथ महतो, अनूप सिंह, शिल्पी नेहा तिर्की, अंबा प्रसाद, बादल, सुदिव्य समेत 40 से अधिक विधायकों ने सीएम सोरेन के साथ बैठक में हिस्सा लिया। बाद रांची एयरपोर्ट से विधायकों के लिए इंडिगो की स्पेशल फ्लाइट मंगाई गई और विधायकों को छत्तीसगढ़ के रायपुर पहुंचाया गया।

महागठबंधन ने राज्यपाल से कहा- चुनाव आयोग के फैसले की घोषणा नहीं करने से खरीद-फरोख्त को बढ़ावा
इससे पहले झामुमो के वरिष्ठ विधायक और मंत्री चंपई सोरेन ने संवाददाता सम्मेलन में कि मुख्यमंत्री की विधानसभा की रद्द करने बात कही जा रही है, ये सिर्फ अटकलें लगाई जा रही हैं लेकिन उनकी सदस्यता अब तक रद्द नहीं की गई है। साथ ही, उन्होंने कहा कि झारखंड में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार काम कर रही है। ने कहा, ”चर्चा है कि निर्वाचन आयोग से पत्र आ गया है। राज्यपाल ने अब तक कोई बात सामने नहीं रखी है। में जनता का अपमान है। माहौल बनाया जा रहा है जैसे कुछ बड़ा होने वाला है।”

चंपई ने कहा कि अब दिल्ली में विधायकों की खरीद-बिक्री की भी बात सामने आ रही है। कि इससे पहले ऐसा ही महाराष्ट्र में देखने को मिला। पूछा, ”आखिर मंशा क्या है बताया जाए। के पास कोई पत्र आया है तो उसे सामने लाया जाए। की इस पर नजर है। एक साथ देखकर भाजपा को सहन नहीं हो रहा है। राज्य को अराजकता की स्थिति में धकेला जा रहा है।” उन्होंने कहा, ”राज्यपाल के कंधो पर बड़ी जिम्मेदारी है जिसे उन्हें पूरा करना चाहिए। की जनता सुबह से शाम तक बस प्रतीक्षा कर रही है। सोरेन की लोकप्रियता भाजपा को पच नहीं रही।”

See also  ‘Complete BJP takeover’: Jharkhand CM on EC disqualification recommendation

बन्ना गुप्ता ने बोला हमला
नेता और मंत्री बन्ना गुप्ता ने तीखा हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा की सोची समझी साजिश के तहत ऐसा काम किया जा रहा है। आज की स्थिति लोकतंत्र का काला अध्याय है।” गुप्ता ने आरोप लगाया, ”केंद्र सरकार साजिश के तहत ऐसा काम कर रही ताकि भ्रम फैले। संवैधानिक संस्थाओं के निर्णय पर सवाल खड़ा हो रहा है।” उन्होंने कहा, ”अगर निर्वाचन आयोग ने कोई निर्णय भेजा है, तो बताना चाहिए। छापेमारी होती है तो बताया नहीं जाता है क्या हुआ। वाले हैं। का बदला लिया जाएगा।”

राज्यपाल पर खरीद-फरोख्त को बढ़ावा देने का आरोप
बाद में एक संयुक्त बयान में यूपीए विधायकों ने कहा, क्या राजभवन समय बढ़ाकर (निर्णय को सार्वजनिक करने में) खरीद-फरोख्त को बढ़ावा देना चाहता है? … सलाह क्या है जो वह लेने में सक्षम नहीं हैं? लोकतंत्र और लोगों का अपमान है।”

सूत्रों ने मंगलवार को जानकारी दी कि झारखंड में सत्तारूढ़ यूपीए गठबंधन अपने विधायकों को पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में स्थानांतरित रहा है ताकि राज्य में चल रहे सियासी संकट के दौरान भाजपा को कथित तौर पर विधायकों को खरीदने की कोशिश से रोका जा सके।

सूत्रों ने बताया कि विधायक दो बसों में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आवास से रांची हवाई अड्डे की ओर निकलते हुए दिखाई दे रहे हैं लिए रायपुर के लिए एक फ्लाइट बुक की गई है। में सोरेन खुद नजर आ रहे हैं।

एक रिजॉर्ट में स्थानांतरित किए जा सकते हैं विधायक
एक कांग्रेस विधायक ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि उन्हें गैर सरकार वाले राज्य छत्तीसगढ़ के रायपुर में एक रिसॉर्ट में स्थानांतरित किया जा सकता है। हवाई अड्डे के सूत्रों ने यह भी कहा कि विधायकों के लिए रायपुर के लिए एक फ्लाइट बुक की गई है।

की झामुमो का मानना ​​​​ कि भाजपा महाराष्ट्र की तरह सरकार गिराने के लिए अपने और कांग्रेस विधायकों को हथियाने का प्रयास कर सकती है और को सुरक्षित सुरक्षित पनाहगाह रखने की जरूरत है।

लाभ के पद के मामले में सोरेन को विधानसभा से अयोग्य ठहराने की भाजपा की याचिका के बाद चुनाव आयोग ने ने को राज्य के राज्यपाल रमेश बैस को अपना फैसला भेजा है।

हालांकि चुनाव आयोग के फैसले को अभी आधिकारिक नहीं बनाया गया है, लेकिन चर्चा थी कि चुनाव आयोग ने मुख्यमंत्री को विधायक के रूप में अयोग्य घोषित करने की शिफारिश की है। राजभवन ने इस मामेल पर कुछ भी घोषणा नहीं की है।

विस्तार

सियासी संकट लगातार बरकरार है। हेमंत सोरेन को अपने विधायकों की टूट का डर इस कदर सताया है कि वे उनका साथ नहीं छोड़ रहे हैं। विधायकों को छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर शिफ्ट कर दिया गया है। चार्टर्ड फ्लाइट बुक की गई थी। सीएम सोरेन ने विधायकों की एकता को लेकर बयान दिया। कि कोई अनहोनी नहीं होगी। परिस्थिति का सामना करने के लिए सत्ता पक्ष तैयार है। तहत कार्य किए जा रहे हैं। उसी रणनीति की छोटी सी झलक पहले और आज सभी ने देखा, आगे भी कई चीजें देखने को मिलेंगी। षड्यंत्रकारियों को जवाब सत्ता पक्ष तरीके से देगी।

See also  रिजॉर्ट पॉलिटिक्स, इस्तीफे का दांव और राजभवन की चुप्पी... झारखंड में परदे के पीछे बड़ा सियासी खेल - jharkhand political crisis Hemant Soren may resign mlas in resort NTC

उन्होंने कहा, “हम हर चीज के लिए तैयार हैं, स्थिति हमारे नियंत्रण में है। इससे पहले सोरेन अपने सभी विधायकों को रांची से लगभग पहुंचे थे और लतरातू बांध के पास एक झील में नाव की सवारी के लिए जाते देखे गए i

से विधायक पहुंचे रायपुर

सीएम आवास में एक बार फिर से महागठबंधन के सभी विधायकों को बुलाया गया। जगन्नाथ महतो, अनूप सिंह, शिल्पी नेहा तिर्की, अंबा प्रसाद, बादल, सुदिव्य समेत 40 से अधिक विधायकों ने सीएम सोरेन के साथ बैठक में हिस्सा लिया। बाद रांची एयरपोर्ट से विधायकों के लिए इंडिगो की स्पेशल फ्लाइट मंगाई गई और विधायकों को छत्तीसगढ़ के रायपुर पहुंचाया गया।

महागठबंधन ने राज्यपाल से कहा- चुनाव आयोग के फैसले की घोषणा नहीं करने से खरीद-फरोख्त को बढ़ावा

इससे पहले झामुमो के वरिष्ठ विधायक और मंत्री चंपई सोरेन ने संवाददाता सम्मेलन में कि मुख्यमंत्री की विधानसभा की रद्द करने बात कही जा रही है, ये सिर्फ अटकलें लगाई जा रही हैं लेकिन उनकी सदस्यता अब तक रद्द नहीं की गई है। साथ ही, उन्होंने कहा कि झारखंड में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार काम कर रही है। ने कहा, ”चर्चा है कि निर्वाचन आयोग से पत्र आ गया है। राज्यपाल ने अब तक कोई बात सामने नहीं रखी है। में जनता का अपमान है। माहौल बनाया जा रहा है जैसे कुछ बड़ा होने वाला है।”

चंपई ने कहा कि अब दिल्ली में विधायकों की खरीद-बिक्री की भी बात सामने आ रही है। कि इससे पहले ऐसा ही महाराष्ट्र में देखने को मिला। पूछा, ”आखिर मंशा क्या है बताया जाए। के पास कोई पत्र आया है तो उसे सामने लाया जाए। की इस पर नजर है। एक साथ देखकर भाजपा को सहन नहीं हो रहा है। राज्य को अराजकता की स्थिति में धकेला जा रहा है।” उन्होंने कहा, ”राज्यपाल के कंधो पर बड़ी जिम्मेदारी है जिसे उन्हें पूरा करना चाहिए। की जनता सुबह से शाम तक बस प्रतीक्षा कर रही है। सोरेन की लोकप्रियता भाजपा को पच नहीं रही।”

See also  झारखंड के 6100 स्कूलों में घटा बच्चों का नामांकन... इन अधिकारियों का रुकेगा वेतन; शिक्षा विभाग का सख्त निर्देश

बन्ना गुप्ता ने बोला हमला

नेता और मंत्री बन्ना गुप्ता ने तीखा हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा की सोची समझी साजिश के तहत ऐसा काम किया जा रहा है। आज की स्थिति लोकतंत्र का काला अध्याय है।” गुप्ता ने आरोप लगाया, ”केंद्र सरकार साजिश के तहत ऐसा काम कर रही ताकि भ्रम फैले। संवैधानिक संस्थाओं के निर्णय पर सवाल खड़ा हो रहा है।” उन्होंने कहा, ”अगर निर्वाचन आयोग ने कोई निर्णय भेजा है, तो बताना चाहिए। छापेमारी होती है तो बताया नहीं जाता है क्या हुआ। वाले हैं। का बदला लिया जाएगा।”

राज्यपाल पर खरीद-फरोख्त को बढ़ावा देने का आरोप

बाद में एक संयुक्त बयान में यूपीए विधायकों ने कहा, क्या राजभवन समय बढ़ाकर (निर्णय को सार्वजनिक करने में) खरीद-फरोख्त को बढ़ावा देना चाहता है? … सलाह क्या है जो वह लेने में सक्षम नहीं हैं? लोकतंत्र और लोगों का अपमान है।”

सूत्रों ने मंगलवार को जानकारी दी कि झारखंड में सत्तारूढ़ यूपीए गठबंधन अपने विधायकों को पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में स्थानांतरित रहा है ताकि राज्य में चल रहे सियासी संकट के दौरान भाजपा को कथित तौर पर विधायकों को खरीदने की कोशिश से रोका जा सके।

सूत्रों ने बताया कि विधायक दो बसों में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आवास से रांची हवाई अड्डे की ओर निकलते हुए दिखाई दे रहे हैं लिए रायपुर के लिए एक फ्लाइट बुक की गई है। में सोरेन खुद नजर आ रहे हैं।

एक रिजॉर्ट में स्थानांतरित किए जा सकते हैं विधायक

एक कांग्रेस विधायक ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि उन्हें गैर सरकार वाले राज्य छत्तीसगढ़ के रायपुर में एक रिसॉर्ट में स्थानांतरित किया जा सकता है। हवाई अड्डे के सूत्रों ने यह भी कहा कि विधायकों के लिए रायपुर के लिए एक फ्लाइट बुक की गई है।

की झामुमो का मानना ​​​​ कि भाजपा महाराष्ट्र की तरह सरकार गिराने के लिए अपने और कांग्रेस विधायकों को हथियाने का प्रयास कर सकती है और को सुरक्षित सुरक्षित पनाहगाह रखने की जरूरत है।

लाभ के पद के मामले में सोरेन को विधानसभा से अयोग्य ठहराने की भाजपा की याचिका के बाद चुनाव आयोग ने ने को राज्य के राज्यपाल रमेश बैस को अपना फैसला भेजा है।

हालांकि चुनाव आयोग के फैसले को अभी आधिकारिक नहीं बनाया गया है, लेकिन चर्चा थी कि चुनाव आयोग ने मुख्यमंत्री को विधायक के रूप में अयोग्य घोषित करने की शिफारिश की है। राजभवन ने इस मामेल पर कुछ भी घोषणा नहीं की है।


RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments