Thursday, September 29, 2022
HomeBreaking NewsIndia Weather Forecast Monsoon Update Rainfall And Flood In Madhya Pradesh Chhattisgarh...

India Weather Forecast Monsoon Update Rainfall And Flood In Madhya Pradesh Chhattisgarh | Heavy Rainfall: पहाड़ से मैदान तक आसमानी आफत से इंसान बेबस

India Weather Forecast: देश के कई हिस्सों में भारी बारिश (Heavy Rain), बाढ़ (Flood) और भूस्खलन की वजह से लोगों के सामने मुसीबत बढ़ गई है. बाढ़ के पानी में कहीं मकान डूब गए हैं तो कहीं गाड़ियां बह गईं हैं. पहाड़ी इलाकों वाले राज्यों में भी आसमानी आफत के साथ भूस्खलन की घटना से लोग दहशत में हैं. कई जगह मैदानी इलाकों में बाढ़ से भारी तबाही है. महाराष्ट्र से छत्तीसगढ़ तक आज भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. मध्य प्रदेश के इंदौर में पानी में कार बह गई तो छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर जिले में भारी बारिश की वजह से इंद्रावती नदी (Indravati River) उफान पर है. 

पहाड़ से मैदान तक आसमानी आफत के आगे इंसान बेबस और लाचार नजर आ रहा है. छत्तीसगढ़ में भारी बारिश की वजह से बस्तर के कई इलाके पानी में डूब गए हैं. मध्य प्रदेश में भारी बारिश ने लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है. बारिश की वजह से इंदौर के प्रजापत नगर में गाड़ियां पानी में बह गईं.

मध्य प्रदेश में बारिश और बाढ़ से आफत

मध्य प्रदेश के इंदौर में सोमवार को हुई बारिश ने प्रशासन के दावों की पोल खोल दी है. पूरा इलाका जलमग्न है. पानी के तेज बहाव में एक कार बह गई. वहीं एक और कार पानी में पलटी हुई नजर आई और थोड़ी देर बाद वो भी बहने लगी और एक खंभे के पास जाकर अटक गई. कार सवार को पानी में फंसा देख हर कोई हैरान था. बाद में कार में फंसे शख्स को स्थानीय लोगों की मदद से सुरक्षित निकाल लिया गया. 

See also  Pakistan Floods: पाकिस्तान की बाढ़ ने 35 लाख बच्चों की शिक्षा को खतरे में डाला- संयुक्त राष्ट्र रिपोर्ट

बैतूल में सैलाब में फंसे कई लोग

मध्य प्रदेश के बैतूल से भी हैरान करने वाली घटना सामने आई, जहां शिवधाम में सैलाब आने से बड़ी संख्या में लोग फंस गए. भारी बारिश के बाद पहाड़ी से पानी तेजी से नीचे गिर रहा है और लोग रेलिंग पकड़ कर खड़े दिखे. बैतूल के रानीपुर इलाके में शिवधाम भोपाली परिसर में अचानक आए सैलाब से सैकड़ों लोग फंस गए. ऊपर से पानी की तेज धार गिर रही थी और नीचे बड़ी संख्या में लोग खड़े दिखे. शिवधाम में बनी रेलिंग लोगों के लिए सैलाब के बीच सहारे का काम करती नजर आई. सीढ़ियों पर खड़े लोग रेलिंग के सहारे अपनी जान बचाने की कोशिश करते नजर आए. गनीमत रही कि कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ

छत्तीसगढ़ में मौसम विभाग का रेड अलर्ट

छत्तीसगढ़ के बस्तर में मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है. भारी बारिश की वजह से बस्तर के कई इलाके पानी में डूब गए हैं. जगदलपुर में सड़कों पर 8 फीट तक पानी जमा है. बस्तर जिले में इंद्रावती नदी उफान पर है. नदियों का पानी रिहायशी इलाके को डूबोने लगा है. बस्तर के जगदलपुर में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. पूरा इलाका पानी में डूबा हुआ है. रिसॉर्ट की चहारदीवारी पूरी तरह पानी में डूबी हुई है. रिसॉर्ट की निचली मंजिल पानी में समा गई है. हर तरफ पानी ही पानी है. 

SDRF ने मोर्चा संभाला
 
जगदलपुर से राजधानी रायपुर को जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग पानी में डूब चुका है…गांव के गांव पानी में समा गए हैं…लिहाजा राहत और बचाव के लिए SDRF ने मोर्चा संभाल लिया है. बस्तर का संपर्क आसपास के तीन राज्यों से कट टुका है. रेलवे, सड़क और हवाई यातायात बंद कर दिया है. उधर छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हालात बिगड़ने लगे हैं. बीजापुर के बंगपाल इलाके में पुल के ऊपर से पानी बहने लगा है. सड़के टूंट गई हैं, जिससे लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है. मौसम विभाग ने बस्तर और आसपास के जिलो में अलर्ट जारी कर दिया है. ऐसे में और बारिश होने पर मुसीबत बढ़ना तय है. 

See also  10 Killed, Dozens Injured In Stabbings In Canada's Saskatchewan

हिमाचल के कई हिस्सों में भारी बारिश का अलर्ट

हिमाचल प्रदेश में येलो अलर्ट के बीच मंगलवार को प्रदेश में मानसून कुछ कमजोर रहा. धर्मशाला और शिमला में हल्की बारिश हुई, जबकि कई इलाकों में आसमान में बादल छाए रहे. मौसम विभाग ने बुधवार और गुरुवार को प्रदेश के कई इलाकों में तेज बारिश की संभावना जताई है. भारी बारिश को लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है. हिमाचल के किन्नौर में सोमवार को पहाड़ का एक बड़ा हिस्सा जमीन पर गिरा था. इसके बाद नेशनल हाइवे-5 पर मलबा और बड़ी-बड़ी चट्टानों के ढेर लग गए. कई जगह भूस्खलन की वजह से मंगलवार शाम तक प्रदेश भर में कई सड़कों पर वाहनों की आवाजाही ठप रही. बिजली कटने और पेयजल बाधित होने से लोगों को काफी दिक्कतें आई.

दक्षिण भारत में भी आसमानी आफत

दक्षिण भारत में भी आसामानी आफत कहर बनकर टूटी है. कर्नाटक से लेकर केरल तक हाराकार मचा है. कर्नाटक के बेलगावी में आसमानी आफत के आगे लोग बेबस और लाचार नजर आए. बारिश का पानी लोगों के घरों के बाहर जमा हो गया. पानी लोगों के घरों में घुसने लगा है. लिहाजा लोग घुटने भर पानी में आने जाने को मजबूर दिखे. कर्नाटक के चिकमंगलुरु की हैं…सकरैयापटनम के कादुर तालुका में पुल पार करने की कोशिश में एक कार पानी में गिर गई. कार में दो लोग सवार थे. काफी मशक्कत के बाद जेसीबी की मदद से कार को बाहर निकाला गया और कार में बैठे लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया.

केरल के कई हिस्सों में बाढ़ से मुसीबत

See also  How Chandrayaan-2 brings cheer after ISRO's SSLV failure

केरल (Kerala) के कई हिस्सों में बारिश और बाढ़ (Flood) लोगों के लिए मुसीबत बनकर आई है. केरल के कोच्चि (Kocchi) में बारिश की वजह से बाढ़ के हालात बन गए हैं. पेरियार नदी उफान पर है. नदी किनारे बना मंदिर पानी में डूब गया है. प्रशासन नदी किनारे के इलाकों को खाली कराने में जुट गया है. मौसम विभाग (Meteorological Department) ने केरल के तटीय क्षेत्रों के लिए चेतावनी जारी की है और मछुआरों को बुधवार तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी है. आईएमडी (IMD) ने बताया कि ओडिशा (Odisha) तट के पास नया दबाव बनने के कारण 11 अगस्त तक भारी बारिश (Heavy Rain) की संभावना है. मंगलवार को ओडिशा के कई जिलों के कई गांवों के खेतों, सड़कों, पुलों और निचले इलाकों में पानी भर गया. बंगाल के तटीय इलाकों में भी बारिश हुई है.

ये भी पढ़ें:

Watch: खराब सड़कों को लेकर केरल में अनोखा विरोध प्रदर्शन, विधायक के सामने पानी से भरे गड्ढे में किया योग

Coronavirus: कोरोना से ठीक होने के बाद भी 4 महीनों तक रहते हैं ये लक्षण, Study में खुलासा

Source: Click here

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments