Thursday, September 29, 2022
HomeEducationIIT-ISM Dhanbad set two goals to be in line with big IITs

IIT-ISM Dhanbad set two goals to be in line with big IITs

IIT-ISM Dhanbad : देश के बड़े व पुराने आईआईटी की कतार में आने के लिए आईआईटी आईएसएम धनबाद ने अपने लिए मुख्यरूप से दो लक्ष्य निर्धारित किया है। वर्तमान में रिसर्च एंड डेवलपमेंट (आरएंडडी) के तहत 29 करोड़ का प्रोजेक्ट आईआईटी आईएसएम में चल रहा है। आईआईटी धनबाद इसे बढ़ाकर सौ करोड़ रुपए करने के लिए काम कर रहा है। धीरे-धीरे इसे और बढ़ाया जाएगा। आईआईटी मद्रास समेत अन्य बड़े आईआईटी का आरएंडडी प्रोजेक्ट चार सौ से पांच सौ करोड़ रुपए का है। आरएंडडी के बाद पेटेंट पर मुख्यरूप से फोकस किया जा रहा है। बताते चलें कि एनआईआरएफ में आईआईटी आईएसएम को इंजीनियरिंग में देशभर में 14वीं व ओवरऑल 38वीं रैंक प्राप्त हुई है।

आईआईटी धनबाद के निदेशक प्रो. राजीव शेखर का कहना है कि हमलोगों का सारा ध्यान क्वालिटी पर है। क्वालिटी से कोई समझौता नहीं होगा। यही कारण है कि पीएचडी के कई संस्थानों में कम पेपर की पढ़ाई होती है। हमलोग नौ पेपर पढ़ा रहे हैं। पीएचडी छात्रों का रिसर्च पेपर दुनिया के टॉप जर्नल में प्रकाशित होनी चाहिए। इनमें दो इंडियन व एक विदेशी हो। आईपीआर को बढ़ाना है। संस्थान का रिसर्च प्रोफाइल बढ़ा है। प्रोडक्ट डेवलपमेंट में बीटेक छात्रों को जोड़ा जा रहा है। उनमें दिलचस्पी जगाई जा रही है। संस्थान की टैक्समिन कंपनी को टेक्निकल सर्विस प्रदान करने संबंधी कंपनी के रूप में ढाला जा रहा है। प्रो. राजीव शेखर ने कहा कि ऑनलाइन पढ़ाई के लिए दो स्टूडियो बनकर तैयार है। अब तक चार एनपीटीएल कोर्स की रिकार्डिंग भी हो चुकी है।

See also  Offshore IIT campuses might be called ‘Indian International Institute of Technology’


एनआईआरएफ में आईआईटी धनबाद

कैटेगरी 2021 2022

ओवरऑल 26 38

इंजीनियरिंग 11 14

मैनेजमेंट 30 46

रिसर्च इंस्टीट्यूशन 20 20 

Source: Click here

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments