Saturday, December 3, 2022
HomeEducationGovernment Will Give 7 Years Fees To Schools Teaching Poor Children -...

Government Will Give 7 Years Fees To Schools Teaching Poor Children – गरीब बच्चों को पढ़ाने वाले स्कूलों को 7 साल की फीस देगी सरकार

सुनें

I हरियाणा सरकार नियम-134ए के तहत गरीब बच्चों को पढ़ाने वाले निजी स्कूलों को 7 साल की फीस प्रतिपूर्ति करने जा रही है। कक्षा दूसरी से 8वीं तक के बच्चों की फीस की राशि प्राप्त करने के लिए स्कूलों को पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। विभाग ने पोर्टल खोल दिया है।
सत्र 2015 से 2022 के दौरान मान्यता प्राप्त निजी स्कूलों में दाखिल लेने वाले या अगली कक्षा में प्रमोट हुए विद्यार्थियों की फीस सरकार ऑनलाइन आवेदन पर ही देगी। 9वीं से 12वीं कक्षा में पढ़ाए जाने वाले गरीब बच्चों की फीस प्रतिपूर्ति का पोर्टल विभाग ने अभी तक नहीं खोला है। संघ ने इसे भी जल्द खोलने की मांग की है। निजी स्कूलों के मुताबिक उनके लगभग एक हजार करोड़ रुपये विभाग के पास अटके हुए हैं।
ने पोर्टल खोलने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल, मंत्री कंवरपाल गुर्जर, शिक्षा विभाग के निदेशक डॉ. आभार है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष सत्यवान कुंडू, प्रांतीय महासचिव राजकुमार पाली, प्रेस प्रवक्ता ब्रह्मप्रकाश सैनी, प्रदेश सचिव अनिल शर्मा मनजीत भोरिया ने कहा कि निजी स्कूल नौंवी से 12वीं कक्षा तक के बच्चों को नियम-134ए के तहत 2015-16 से लेकर वर्तमान शैक्षणिक सत्र हैं। प्रतिपूर्ति के तहत सरकार कितना पैसा देगी, यह अभी निर्धारित नहीं किया गया है। कर सरकार जल्दी इन कक्षाओं के लिए भी ऑनलाइन पोर्टल खोले।
ने सरकार से स्कूल बसों का टैक्स माफ करने की मांग भी की है। कहा कि स्कूली बच्चों को यात्री के तौर पर नहीं गिना जा सकता। बस पासिंग का समय भी एक साल से बढ़ाकर तीन वर्ष किया जाए।

See also  Education for refugees very limited compared to hosts, says UN agency

I हरियाणा सरकार नियम-134ए के तहत गरीब बच्चों को पढ़ाने वाले निजी स्कूलों को 7 साल की फीस प्रतिपूर्ति करने जा रही है। कक्षा दूसरी से 8वीं तक के बच्चों की फीस की राशि प्राप्त करने के लिए स्कूलों को पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। विभाग ने पोर्टल खोल दिया है।

सत्र 2015 से 2022 के दौरान मान्यता प्राप्त निजी स्कूलों में दाखिल लेने वाले या अगली कक्षा में प्रमोट हुए विद्यार्थियों की फीस सरकार ऑनलाइन आवेदन पर ही देगी। 9वीं से 12वीं कक्षा में पढ़ाए जाने वाले गरीब बच्चों की फीस प्रतिपूर्ति का पोर्टल विभाग ने अभी तक नहीं खोला है। संघ ने इसे भी जल्द खोलने की मांग की है। निजी स्कूलों के मुताबिक उनके लगभग एक हजार करोड़ रुपये विभाग के पास अटके हुए हैं।

ने पोर्टल खोलने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल, मंत्री कंवरपाल गुर्जर, शिक्षा विभाग के निदेशक डॉ. आभार है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष सत्यवान कुंडू, प्रांतीय महासचिव राजकुमार पाली, प्रेस प्रवक्ता ब्रह्मप्रकाश सैनी, प्रदेश सचिव अनिल शर्मा व मनजीत भोरिया ने कहा कि निजी स्कूल नौंवी से 12वीं कक्षा तक के बच्चों को नियम-134ए के तहत 2015-16 से लेकर वर्तमान शैक्षणिक सत्र हैं। प्रतिपूर्ति के तहत सरकार कितना पैसा देगी, यह अभी निर्धारित नहीं किया गया है। कर सरकार जल्दी इन कक्षाओं के लिए भी ऑनलाइन पोर्टल खोले।

ने सरकार से स्कूल बसों का टैक्स माफ करने की मांग भी की है। कहा कि स्कूली बच्चों को यात्री के तौर पर नहीं गिना जा सकता। बस पासिंग का समय भी एक साल से बढ़ाकर तीन वर्ष किया जाए।

See also  लालू यादव के सपनों को साकार कर रहे नीतीश व तेजस्‍वी, बोले शिक्षा मंत्री - भोजन से ज्‍यादा जरूरी है पढ़ाई - Nitish and Tejashwi are making Lalu Yadav's dreams come true, said Education Minister Prof. Chandrashekhar

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments