Sunday, December 4, 2022
HomeBreaking NewsAllegations On Kejriwal Of Causing Loss Of Revenue In Plot Sale In...

Allegations On Kejriwal Of Causing Loss Of Revenue In Plot Sale In Haryana, Probe Orders – Delhi: केजरीवाल पर हरियाणा में भूखंड बिक्री में राजस्व को नुकसान पहुंचाने के आरोप, एलजी ने दिए जांच के आदेश

सुनें

हरियाणा के भिवानी में तीन भूखंडों की बिक्री में अनियमितता के मामले में मुख्यमंत्री पर आरोप लगाए गए हैं। लोकायुक्त के नाम भेजी गई एक शिकायत पर उपराज्यपाल ने दिल्ली के मुख्य सचिव को इसकी जांच करने को कहा है। इस मामले में जमीन की कीमत कम आंकते हुए आयकर, स्टांप ड्यूटी और पूंजीगत लाभ (कैपिटन गेन टैक्स) के मद में राजस्व के नुकसान पहुंचाने के आरोप लगाए गए हैं।

लोकायुक्त को दी गई शिकायत में अरविंद केजरीवाल पर उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल के माध्यम से 2021 में एक ही दिन तीन भूखंडों की बिक्री में अलग-अलग टैक्स मदों में चोरी के आरोप लगाए गए हैं। इनमें से दो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नाम जबकि एक उनके पिता गोविंद राम पर थीं। इससे राजस्व को हुए नुकसान का हवाला देते हुए मामले की सक्षम अधिकारी से निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की है।

पत्र में आरोप है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 4.54 करोड़ रुपये में भियानी में तीन प्लॉटों की बिक्री की। कुल कीमत कागजों पर 72.72 लाख रुपये दिखाई गई। आरोप है कि केजरीवाल ने अपनी पत्नी सुनीता केजरीवाल के जरिए बाजार में प्लाटों की बिक्री 45,000 रुपये प्रति वर्ग गज की दर पर बिक्री कर दी। दस्तावेज पर यह राशि महज 8300 रुपये प्रति वर्ग गज दशाई गई। इस संबंध में एलजी के पास 28 अगस्त को लोकायुक्त के नाम भेजी गई शिकायत मिली।

में आरोप है कि केजरीवाल ने सरकारी खजाने को ठगा। स्टाम्प ड्यूटी के मद में 25.93 लाख रुपये जबकि कैपिटल गेन टैक्स के रूप में 76.4 लाख की चोरी के आरोप लगाए गए हैं। उपराज्यपाल ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए इसे उचित कार्रवाई के लिए भेज दिया है।

See also  शपूरजी पलोनजी ग्रुप की किसने रखी थी नींव, किस तरह हुई थी बिजनेस की शुरुआत

लगाए गए आरोप

में कहा गया है कि देश का एक जागरूक और जिम्मेदार नागरिक के रूप में यह मेरा कर्तव्य है कि देश के कानून का पालन करें। गलत काम को चिह्नित करें। मैं एक ज्वलंत मामला आपके ध्यान में लाना चाहता हूं। मुखिया द्वारा संपत्ति का अवमूल्यन किया गया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी पत्नी सुनीता केजरीवाल के जरिये खुद की तीन संपत्तियां हरियाणा के भिवानी में बेचीं। इनमें दो संपत्तियां खुद अरविंद केजरीवाल के नाम थी जबकि तीसरी संपत्ति उनके पिता गोविंद राम के नाम थी। तीन शहरी वाणिज्यिक भूखंडों की कीमत कम आंकते हुए बेचा।

के अनुसार, भिवानी के एक बाजार स्थित 100 फुट की सड़क पर 15 , 2021 में बेचीं। वास्तव में 4.54 करोड़ रुपये की संपत्ति कागज पर बेहद कम कीमत (72.72 लाख रुपये) में दिखाई गई। इस सिलसिले में उन्हें ना केवल 3.8 करोड़ रुपये की नकदी (बगैर हिसाब) मिली बल्कि स्टांप ड्यूटी के मद में 5.93 लाख रुपये जबकि 76.4 लाख रुपये कैपिटल गेन टैक्स की भी चोरी की। एक ही दिन में 340, 416 और 254 वर्ग गज के भूखंडों की बिक्री सीएम की पत्नी के जरिये बेचने के आरोप लगाए गए हैं।

आरोप है कि सुनीता केजरीवाल द्वारा 24.48 लाख रु., 30 लाख और 18.24 लाख रुपये की दर से 8300 प्रति वर्ग गज के भूखंडों की बिक्री की गई। यह दर जमीन की तत्कालीन बाजार के रेट से काफी अधिक थी (45,000 रुपये प्रति वर्ग गज) थी। लिए स्टाम्प शुल्क के मद में क्रमश: 1.41.200 रुपये, 1.73.700 और 1.12.500 रुपये प्रति वर्ग गज की दर पर की गई।

See also  Script of Amit Shah Meeting RRR Star Jr NTR

शिकायतकर्ता ने संपर्क में आए खरीदार का नाम ना छापने की शर्त पर पत्र में आरोप लगाया है कि केजरीवाल ने बाजार भाव पर 1.53 करोड़ रु., 1.87 करोड़ और 1.14 करोड़ रु में तीनों भूखंडों की बिक्री की। पत्र में आरोप लगाया कि अरविंद केजरीवाल और उनकी पत्नी ने स्टांप ड्यूटी के मद में 10.68 लाख (416 वर्ग गज), 8.73 लाख (340 वर्ग गज) और 6.52 लाख रुपये (254 वर्ग गज) के भूखंड पर प्रदेश के राजस्व के खजाने में 25.93 रुपये का नुकसान पहुंचाया।

आरोप है कि केजरीवाल ने वास्तव में तीनों भूखंडों को 4.54 करोड़ रुपये की बाजार दर पर बेचा जबकि इसकी कीमत (20 फीसदी कम) का भ्रामक अनुमानित आकलन किया गया। कागज पर सर्किल रेट के मुताबिक महज 72.72 लाख रुपये थी जबकि तत्कालीन दर के मुताबिक पूंजीगत लाभ के मद में 76.4 लाख रुपये की चोरी के भी आरोप लगाए गए हैं।

जांच सक्षम अधिकारी से जल्द करवाने का आग्रह

शिकायत में आश्चर्य जताते हुए आरोप लगाया कि दोनों पूर्व राजस्व अधिकारी रह चुके हैं, बावजूद इसके कैसे स्टांप ड्यूटी, आयकर और कैपिटल गेन टैक्स की चोरी की साजिश रची गई। ने दिल्ली के मुख्यमंत्री की भूमिका पर सवाल उठाते हुए इस मामले की जांच सक्षम अधिकारी और संबंधित एजेंसियों से जल्द करवाने का आग्रह किया है। मामले की निष्पक्ष जांच से इस मामले की सच्चाई सामने आने पर आरोपियों को निशुल्क सजा दी जा सकेगी।

विस्तार

हरियाणा के भिवानी में तीन भूखंडों की बिक्री में अनियमितता के मामले में मुख्यमंत्री पर आरोप लगाए गए हैं। लोकायुक्त के नाम भेजी गई एक शिकायत पर उपराज्यपाल ने दिल्ली के मुख्य सचिव को इसकी जांच करने को कहा है। इस मामले में जमीन की कीमत कम आंकते हुए आयकर, स्टांप ड्यूटी और पूंजीगत लाभ (कैपिटन गेन टैक्स) के मद में राजस्व के नुकसान पहुंचाने के आरोप लगाए गए हैं।

See also  Proposal To Increase Electricity Rates By 90 Paise Per Unit In Himachal, Revenue Loss Reaches 275 Crores - Electricity Rates Hp: बिजली का बिल देगा झटका, बोर्ड का इतने पैसे प्रति यूनिट बढ़ाने का प्रस्ताव

लोकायुक्त को दी गई शिकायत में अरविंद केजरीवाल पर उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल के माध्यम से 2021 में एक ही दिन तीन भूखंडों की बिक्री में अलग-अलग टैक्स मदों में चोरी के आरोप लगाए गए हैं। इनमें से दो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नाम जबकि एक उनके पिता गोविंद राम पर थीं। इससे राजस्व को हुए नुकसान का हवाला देते हुए मामले की सक्षम अधिकारी से निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की है।

पत्र में आरोप है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 4.54 करोड़ रुपये में भियानी में तीन प्लॉटों की बिक्री की। कुल कीमत कागजों पर 72.72 लाख रुपये दिखाई गई। आरोप है कि केजरीवाल ने अपनी पत्नी सुनीता केजरीवाल के जरिए बाजार में प्लाटों की बिक्री 45,000 रुपये प्रति वर्ग गज की दर पर बिक्री कर दी। दस्तावेज पर यह राशि महज 8300 रुपये प्रति वर्ग गज दशाई गई। इस संबंध में एलजी के पास 28 अगस्त को लोकायुक्त के नाम भेजी गई शिकायत मिली।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments