Wednesday, November 30, 2022
HomeEducationAdmission process : प्रवेश की छठवें दौर की काउंसलिंग से शिक्षण कार्य...

Admission process : प्रवेश की छठवें दौर की काउंसलिंग से शिक्षण कार्य हो रहा बाधित

Publication date: | Sat, Aug 27, 2022 4:14 PM (IST)

प्रतिनिधि। प्रवेश की छठवें चरण की प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। रुक-रुककर प्रवेश प्रक्रिया चलने की वजह से अध्यापन कार्य भी प्रभावित हो रहा है। सिर्फ प्रवेश की प्रक्रिया में व्यस्त है। 15 मई से कालेजों में प्रवेश की प्रक्रिया ल रही है। उच्च शिक्षा विभाग ने प्रवेश की प्रक्रिया 31 अगस्त के लिए खोल दी है। अन्य वर्षों में तीन से चार चरणों के बाद सीएलसी राउंड के बाद प्रक्रिया समाप्त कर दी जाती थी, लेकिन इस बार प्रवेश की प्रक्रिया छठवें चरण तक पहुंच गई है। छठवें चरण की काउंसलिंग प्रक्रिया 23 अगस्त से शुरू की गई है। 29 अगस्त को कालेज लेवल पर सूची जारी की जाएगी। जबकि 30 और 31 अगस्त तक छात्रों को प्रवेश लेना होगा।

जानकkरों के अनुसार नई शिक्षा नीति के तहत पाठयक्रमों में बदलाव किया गया है। से छात्रों द्वारा गलत विषय समूह चयनित करने के कारण परेशानी उठानी पड़ी। ऐसे में फार्म निरस्तीकरण की संख्या भी बढ़ी और बार-बार प्रक्रिया शुरू करनी पड़ी।

परीक्षा का पोस्टर विमोचित

, प्रतिनिधि। इंस्टीट्यूट जो कि इंजीनियरिंग एवं मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी करवाने वाला देश का श्रेष्ठ संस्थान है। इसके द्वारा कक्षा सातवीं से 12वीं में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं हेतु प्रतिभा खोज एवं छात्रवृत्ति परीक्षा का जबलपुर सेंटर पर पोस्टर विमोचन कर शुभारंभ किया गया है। मौके पर नारायणा इंस्टीट्यूट जबलपुर के संस्था प्रबंधक सत्यप्रकाश ने बताया कि इस परीक्षा का आयोजन दो चरणों में आनलाइन एवं आफलाइन माध्यम से किया गया है। जिसके लिए विद्यार्थी संस्‍था की वेबसाइट पर जाकर या नजदीकी नारायणा के सेंटर पर जाकर निश्शुल्क आवेदन कर सकते हैं।

See also  Dharamsala: School Education Board Will Give Chance To The Students Who Are Deprived Of Term One Examination - धर्मशाला: टर्म-एक की परीक्षा से वंचित रहे विद्यार्थियों को स्कूल शिक्षा बोर्ड देगा मौका

आनलाइन परीक्षा 26 से 30 अक्टूबर एवं दो से छह नवंबर को आयोजित की जाएगी। परीक्षा 12 एवं 20 नवंबर 2022 को आयोजित होगी। परीक्षा में भाग लेने वाले सभी विद्यार्थियों में से राष्ट्रीय स्तर पर उच्चतम रैंक पाने वाले प्रथम पांच विद्यार्थियों को नासा की यात्रा पर निश्शुल्क जाने का मौका मिलेगा। इसके अलावा किसी भी विद्यार्थी को नारायणा इंस्टीट्यूट से सातवीं से 12वीं कक्षा ओलम्पीयाडस, एनटीएसई,आइआइटी-जेईईई नीट की तैयारी के लिए किसी भी कोर्स में प्रवेश लेता है तो 100 फीसद तक फीस में छात्रवृत्ति प्राप्त कर सकता है। एनएसएटी के माध्यम से नारायणा का उद्देश्य प्रतिभावान विद्यार्थियों को देश की सर्वोच्य प्रवेश परीक्षा आइआइटी-जेईईई एवं नीट हेतु तलाश कर भविष्य के डाक्टर एवं इंजीनियर तैयार करना है।

Posted by: tarunendra chauhan

NaiDunia Local

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments