Monday, December 5, 2022
HomeEducationस्‍कूल शिक्षा महानिदेशक का दावा...नए सत्र में परिषदीय स्कूलों में किताबें 15...

स्‍कूल शिक्षा महानिदेशक का दावा…नए सत्र में परिषदीय स्कूलों में किताबें 15 मार्च तक पहुंच जाएंगी

Jagran NewsPublication date: Sun 06 Nov 2022 07:49 AM (IST)Updated Date: Sun 06 Nov 2022 07:49 AM (IST)

s यूपी के परिषदीय स्कूलों में पठन-पाठन को सुधारने की दिशा में तेजी से कार्य चल रहा है। नए सत्र में 15 मार्च तक सभी परिषदीय स्कूलों में पाठ्य पुस्तकें, अभ्यास पुस्तिकाओं को पहुंचा दिया जाएगा। स्कूल शिक्षा महानिदेशक ने प्रयागराज में किया। उन्होंने बताया कि नए सत्र में प्रदेश भर में करीब 17 करोड़ किताबें बच्चों तक पहुंचाई जाएंगी। टेंडर की प्रक्रिया अभी ही पूरी कर ली गई है। यह भी कहा कि बच्चों को नई शिक्षा नीति के तहत एनसीईआरटी की पुस्तकें दी जाएंगी।

मंडलीय कार्यशाला में शामिल हुए स्‍कूल शिक्षा महानिदेशक : में निपुण भारत अभियान के तहत आयोजित मंडलीय कार्यशाला में शामिल होने आए स्कूल शिक्षा के महानिदेशक अनौपचारिक बातचीत में माना कि वर्तमान सत्र में अब तक को को पाठ्य पुस्तकें नहीं मिल सकी हैं। टेंडर में विलंब होने सहित कई अन्य तकनीकी कारण हैं।

में तिमाही परीक्षाएं रहीं : शिक्षा के महानिदेशक ने विश्वास दिलाया कि अगले सत्र में इस तरह की चूक नहीं होगी। सत्र के संदर्भ में बताया कि मंडलवार सभी बेसिक स्कूलों में तिमाही परीक्षाएं कराई जा रही हैं। नवंबर में यह परीक्षा सरल एप के माध्यम से कराई जाएगी। कि परीक्षा के बाद प्रत्येक विद्यार्थी और अभिभावक तक रिपोर्ट कार्ड भी भेजा जाएगा।

के बाद शुरू तबादले : शिक्षा के महानिदेशक ने कहा कि शिक्षकों के ब्लाक स्तर के स्थानांतरण आनलाइन होंगे। पूरी कर ली गई हैं। से अनुमति मिलने का इंतजार है। शिक्षकों की जो भी परेशानियां हैं उन्हें जल्द दूर किया जाएगा। तक सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी में अधिकारियों की कमी की बात है तो वहां की परीक्षाएं दूसरे आयोग से होने जा रही हैं। पीएनपी का कार्य किताबों और डीएलएड परीक्षा कराने तक रह जाएगा।

See also  Dehradun News: बच्चों की सुरक्षा में लापरवाही करने पर मुख्य शिक्षा अधिकारी ने 13 निजी स्कूलों को भेजा नोटिस

में रिक्‍त पद शीघ्र भरे जाएंगे : बेसिक शिक्षा में स्थायी निदेशक सहित जो भी अन्य पद रिक्त हैं वह शीघ्र भरे जाएंगे। कहा कि शासन का पूरा जोर शिक्षा के सुधार पर है। में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाई जाए। सुधरे। बातों को लेकर निपुण भारत अभियान चलाया जा रहा है। को कई तरह के प्रशिक्षण भी दिए जा रहे हैं।

Edited by: Brijesh Srivastava

करें और रहे हर खबर से अपडेट

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments