Sunday, November 27, 2022
HomeEducationशिक्षा विभाग में हुई गड़बड़ी, जांच कर कार्रवाई की मांग | Disturbance...

शिक्षा विभाग में हुई गड़बड़ी, जांच कर कार्रवाई की मांग | Disturbance in education department, demand for investigation and action

दमोह29

  • लिंक

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा शिक्षा विभाग में हुई गड़बड़ी को लेकर स्कूल शिक्षा मंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। विद्यार्थी परिषद के नीलेश राठौर ने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा जनपद शिक्षा केंद्र व समन्वय परियोजना सर्व शिक्षा भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

शिक्षा विभाग द्वारा 14 करोड़ की राशि दमोह जिले के लिए आवंटित हुई थी व ब्लॉकों के बीआरसी कार्यालयों में दो- करोड़ रुपए स्कूल के रंग रोगन एवं मरम्मत आदि कार्य को लेकर आवंटन हुए थे। बीआरसी द्वारा गड़बड़ी की गई है। के समस्त ब्लॉकों के बीआरसी कार्यालयों की गड़बड़ी से आज भी जिले के समस्त स्कूल मटमैले और पर्याप्त सुविधा युक्त संसाधनों से वंचित हैं। 124 स्कूल में रंग रोगन के लिए पेंटर्स के बिल लगाए, लेकिन पुताई नहीं कराई गई। जिले भर के ब्लॉकों के बीआरसी द्वारा भ्रष्टाचार को कलेक्टर ने 3 दिन में जांच के आदेश दिए थे लेकिन कोई जांच सामने नहीं आई।

इस विषय पर जब विद्यार्थी परिषद के प्रतिनिधि द्वारा डीईओ से बात की तो उनका कहना था कि हमारे 3 दिन 30 दिन के बराबर होते हैं। विषय को कलेक्टर को बताया तो उन्होंने बताया कि मैंने जांच के लिए कहा है तहसीलदार थोड़ा व्यस्त चल रहे हैं। इसमें दोषी पाया जाएगा उसके ऊपर सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिला सह संयोजक राहुल कुमार ने कहा कि जब कलेक्टर के आदेश का पालन नहीं हुआ तो हम कहा गुहार लगाएं। मामले की उच्च स्तरीय जांच नहीं हुई तो विद्यार्थी परिषद का प्रतिनिधि मंडल स्कूल शिक्षा मंत्री से इस विषय में बात करेंगे।

में कार्रवाई नहीं होने पर विद्यार्थी परिषद शिक्षा विभाग कार्यालयों की घेराबंदी कर गेट में ताला लगाकर आंदोलन करने के लिए बाध्य रहेगा। इस दौरान जिला स संगठन मंत्री आदित्य बरमैया, नगर सह मंत्री नमन शांडिल्य, अमित ठाकुर, शिवम् नामदेव, बंधन विश्वकर्मा, प्रमोद , अभय पाठक आदि शामिल रहे।

See also  Case for Investment: U.S. Government Support to Education Cannot Wait - World
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments