Tuesday, September 27, 2022
HomeEducationशिक्षा विभाग ने अजीतपुर के संस्था प्रधानों को दिए क्षतिग्रस्त भवन में...

शिक्षा विभाग ने अजीतपुर के संस्था प्रधानों को दिए क्षतिग्रस्त भवन में बच्चों को नहीं बिठाने के आदेश | The Education Department gave orders to the head of the institutions of Ajitpur not to place the children in the damaged building.

  • Hindi news
  • local
  • Rajasthan
  • Dholpur
  • The Ministry of Education has ordered the head of Ajitpur’s institutions not to place the children in the damaged building.

धौलपुरघंटा पहले

  • लिंक

विधानसभा क्षेत्र के अजीतपुर के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के क्षतिग्रस्त भवन से बारिश के दौरान लगातार पानी टपकने और अंदर बच्चों को बिठाकर पढ़ाने को भास्कर ब्लॉक कार्यालय विद्यालय को के अंदर बच्चों को नहीं बैठाने एवं भवन से बच्चों को दूर रखने के आदेश जारी करते हुए संस्था प्रधान को पाबंद किया है। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को दैनिक भास्कर “अजीतपुर के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय की छतों से टपक रहा पानी, जर्जर एक कमरे में पढ़ रहे तीन कक्षाओं के 85 बच्चे, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा” नामक शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी I पढ़ने के बाद ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय बाड़ी से अजीतपुर के संस्था प्रधान को विद्यार्थियों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए भवन के अंदर नहीं बैठाने और उससे दूर रखने के आदेश जारी किए हैं। अलावा स्थानीय ग्राम पंचायत के सरपंच ने भी शुक्रवार को विद्यालय पहुंचकर भवन का जायजा लिया है और क्षतिग्रस्त कमरो व छतों की मरम्मत के लिए शीघ्र ही प्रस्ताव लेकर आगे की कार्रवाई करने का भरोसा दिया है। व्यवस्था को लेकर खड़ा हुआ संकट : अजीतपुर के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में मौजूद चार कमरों में से बच्चों बैठने के लिए उपलब्ध दो कमरे पूरी तरह क्षतिग्रस्त हालत में है, असुरक्षित भवन में बच्चों बैठने से रोके को ब्लॉक अधिकारी बाड़ी के खबर पर बच्चों को क्षतिग्रस्त कमरों से दूर रखने के आदेश तो दे दिए लेकिन बच्चों को बैठने के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था या सुझाव नहीं दिए हैं। ऐसे में बच्चों की बैठक व्यवस्था को लेकर विद्यालय प्रशासन के सामने संकट खड़ा हो गया है। विद्यालय में पढ़ने वाले 173 बच्चों को बैठाने के लिए स्टाफरूम बचा है जबकि एक कमरा स्टोर रूम और मिड डे मील की रसोई के कार्य आ रहा है। विद्यालय के प्रधानाध्यापक हुकम सिंह ने बताया कि विद्यालय के पास न तो जमीन है और ना ही सुरक्षित भवन। स्थिति में बारिश थमने पर ही बच्चों को खुले में बैठकर पढ़ाने की व्यवस्था हो सकेगी।

See also  TS PGECET Answer Key 2022 released on pgecet.tsche.ac.in, raise objections till Aug 17
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments