Sunday, September 25, 2022
HomeEducationशिक्षा मंत्री की खेती... लहलहाती फसल देख हुए गदगद - Education Ministerchar(39)s...

शिक्षा मंत्री की खेती… लहलहाती फसल देख हुए गदगद – Education Ministerchar(39)s farming… Gadden to see the flourishing crop

Author: jagranRelease Date: Sun, Aug 21, 2022 9:33 PM (IST)Date Updated: Sun, Aug 21, 2022 9:33 PM (IST)

की खेती… लहलहाती फसल देख हुए गदगद

संवाद सहयोगी, भंडारीदह (बेरमो) : झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो रविवार को अपने पैतृक गांव अलारगो पहुंचे। यहां जनता दरबार लगाकर विभिन्न क्षेत्र से आए लोगों की समस्याओं का आन द स्पाट समाधान किया। अपने खेतों का जायजा लेते हुए लहलहाती फसलों को देखकर काफी खुश हुए। कि पिछले तीन दिनों से लगातार हुई बारिश के बाद खेतों में जान आ गई है। लगभग दो एकड़ भूमि में लगे ओल (जिमीकंद) के पौधों को देखते हुए उन्होंने कहा कि बुआई के 25-30 दिनों के अंदर ओल के पौधे उग जाते हैं। उसके बाद 50-60 दिनों के उपरांत ओल के पौधों की पहली निकाई और 80-90 दिनों के बाद दूसरी निकाई की जाती है। दौरान पौधों पर मिट्टी की परत भी चढ़ाई जाती है। उन्होंने बताया झुलसा रोग ओल का बैक्टीरिया जनित रोग है, जिसका आक्रमण ओल पौधों की पत्तियों पर सितंबर-अक्टूबर माह में अधिक होता है, जिससे पौधों को बचाना होता है।

उन्होंने बताया कि ओल की बुआई के सात-आठ माह के बाद जब पत्तियां पीली पड़ कर सूखने लगती हैं, तब फसल तैयार हो जाती है। खुदाई के पश्चात ओल की अच्छी तरह मिट्टी साफ कर दो-तीन दिन धूप में रखकर सुखाया जाता है। उसके बाद ओल को पांच से छह माह तक आसानी से भंडारित किया जा सकता है। दें कि पिछले वर्ष भी शिक्षा मंत्री महतो ने बड़ी मात्रा में ओल की उपज की थी। फिलहाल टमाटर, फूलगोभी, मिर्च आदि की नर्सरी तैयार कर रहे हैं। निरीक्षण के क्रम में पाया कि समुचित वर्षा के अभाव में अलारगो के किसानों के अधिकतर खेतों में धनरोपनी नहीं हो पाई है। खेत में धान की फसल बारिश के बाद लहलहा रही। मंत्रालय के कार्यों को निपटाने के बाद जब भी वह रांची से अपने गांव आते हैं, तब अपने खेतों को देखने जरूर जाते हैं।

See also  'West Bengal Govt Takes Cut From Money Allocated to Education Fund,' Suvendu Complains to Pradhan

Edited by: jagran

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments