Wednesday, February 8, 2023
HomeBreaking Newsरैगिंग का सच सामने लाने के लिए महिला कांस्टेबल का ये अनोखा...

रैगिंग का सच सामने लाने के लिए महिला कांस्टेबल का ये अनोखा कारनामा

  • That is it
  • How does it work?

Anyway, Sameer khan/BBC

Anyway,

इंदौर मेडिकल कॉलेज में में में अंडरकव अंडरकव ie ऑपरेशन से सुर्ख़ियों में आईं कांस्टेबल शालिनी चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान चौहान

इंदौर बीत दो दिन से हर तरफ़ महिला कांस्टेबल शालिनी चौहान की चर्चा हो रही है है. There is a high probability that you will not be able to do this. रैगिंग एक मामले को सुलझाने के लिए वह तीन महीने तक तक मेडिकल कॉलेज में में स्टूडेंट के तौर पर जाती रहीं रहीं रहीं और सबूत जुटर सबूत जुटाती रहीं.

सुनने भले ये पूरा मामला चौंकाने वाला लग रहा हो हो हो इंदौर में संयोगितागंज पुलिस थाने की की साल साल की कांस्टेबल शालिनी ने यह यह यह क क क कायाक iT है. दरअसल महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज, इंदौर में सीनियर छात्रों द्वारा जूनियर छात्रों की रैगिंग की ख़बरें लगातार आ रही थीं, लेकिन इस मामले में कोई भी पीड़ित छात्र सामने नहीं आ रहा था.

ऐसे जुलाई महीने में किसी पीड़ित छ छात छात एंटी एंटी एंटी एंटी एंटी एंटी हेल्पलाइन हेल्पलाइन दिल्ली में कॉलेज परिस परिस परिस परिस में रैगिंग की शिकायत दायत दर्ज करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी करायी दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दायत दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज दर्ज इस पर मामला संयोगितागंज पुलिस थाने में दर्ज हुआ हुआ इसके बाद थाना प्रभारी तहज़ीब क़ाज़ी ने मामले की जांच शुरू की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की की शुरू शुरू शुरू शुरू

वो बताते हैं हैं हैं काफ़ी मशक्कत के बाद भी भी हमारे पास कोई शिकायत शिकायत के लिए नहीं नहीं नहीं आया आया कोई कोई सबूत नहीं मिला मिला हमलोगों हमलोगों ने मामला ख़त्म करने का सोचा सोचा समाज रैगिंग बुरी को को लेकर हमलोग चिंतित चिंतित थे ऐसे में हमने वही तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा तरीक़ा वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही वही You can make the best choice.”

See also  Shashi Tharoor's dig at Narendra Modi: ‘PM speaks more in foreign Parliament than our own' | India News

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments