Wednesday, November 30, 2022
HomeEducationराज्यपाल ने शिक्षा व्यवस्था पर उठाया सवाल, बोले- डिग्री पाकर भी छात्रों...

राज्यपाल ने शिक्षा व्यवस्था पर उठाया सवाल, बोले- डिग्री पाकर भी छात्रों के चेहरे पर नहीं रहती मुस्कुराहट

Jagran NewsPublication date: Fri 14 Oct 2022 16:29 (IST)Date Updated: Fri, Oct 14, 2022 4:31 PM (IST)

(पलामू), Convocation Nilambar-Pitamber University 2022 झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस ने वर्तमान शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा है कि हमारे शिक्षण संस्थानों में पहले से कहीं अधिक विद्यार्थी पढ़ रहे हैं। दीक्षा समारोह में छात्रों को मेडल और डिग्री मिलते समय उनके चेहरे से मुस्कान गायब है। बात पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है। शिक्षा की गुणवत्ता पर होना चाहिए।

नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय पलामू के दीक्षा समारोह में राज्यपाल का संबोधन

राज्यपाल रमेश बैस ने शुक्रवार को नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय पलामू के दीक्षा समारोह में मेडल और डिग्री हासिल करने वाले स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि आज से आपके जीवन की कसौटी आरंभ होती है। आपका सुनहरा भविष्य प्रतीक्षा कर रहा है। जीवन में अपना मार्ग स्वयं ढूंढना है और बनाना है। विद्यार्थियों के जीवन में विशेष महत्व रखता है। जीवन का यादगार और मूल्यवान पल होता है। चाहता हूँ कि भविष्य में विश्वविद्यालय द्वारा समय पर दीक्षांत समारोह आयोजित किये जाते रहें ताकि विद्यार्थियों को समय पर डिग्री मिल सके।

संस्थान के लिए पूंजी और ब्रांड एम्बेसेडर होता है

उन्होंने कहा कि किसी भी शिक्षण संस्थान के लिए उसके विद्यार्थी ही उसकी पूंजी और ब्रांड एम्बेसेडर होता है। दायित्व सिर्फ विद्यार्थियों को किताबों तक सीमित रखना, उन्हें डिग्रियां बाांटने तक ही सीमित नहीं होना चाहिए बल्कि उनमें कर जीवन में बेहतर करने की भूख जगाना, उनकी प्रतिभा को उभारना, उनमें आत्मनिर्भरता पैदा करना और उन्हें एक सम्पूर्ण व्यक्तित्व देना होना चाहिए।

See also  Professor Anju Dahiya Selected For National Teacher Award For Doing Commendable Work In The Field Of Education - शिक्षा के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने पर प्राध्यापिका अंजू दहिया का राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए चयन

कुछ न कुछ नया सीखने वाला व्यक्ति ही चुनौतियों का सामना कर सकेगा

वैश्वीकरण के इस युग में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने की वकालत करते हुए राज्यपाल ने कहा कि विद्यार्थियों को गुणात्मक शिक्षा उपलब्ध हो, यह विश्वविद्यालय को सुनिश्चित करना होगा। विद्यार्थी विभिन्न प्रतिस्पर्धा में सफलता हासिल करें, इसके लिए विश्वविद्यालय को उन्हें प्रोत्साहित करना होगा। के इस युग में अपनी प्रतिभा से विद्यार्थियों को उत्कृष्टता हासिल करनी होगी। सबसे महत्वपूर्ण पूंजी है। कुछ न कुछ नया सीखने वाला व्यक्ति ही इस दौर की चुनौतियों का सामना कर सकेगा।

शिक्षा नीति-2020 के अनुरूप विद्यार्थियों का नामांकन लेने पर राज्यपाल प्रसन्न

नीलाम्बर-पीताम्बर विश्वविद्यालय द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के अनुरूप पाठ्यक्रमों को अद्यतन करते हुए स्नातक स्तरीय कक्षाओं में विद्यार्थियों का नामांकन लेने पर राज्यपाल ने प्रसन्नता व्यक्त की। कहा कि विश्वविद्यालय में शोध के महत्व को समझते हुए इसके स्तर को उच्च करने का हर संभव प्रयास करना चाहिए। शोध में हमारे विद्यार्थियों में निहित इनोवेटिव आईडिया दिखना चाहिए ताकि समाज को उसका लाभ मिले।

श्रेष्ठ समाज के निर्माण में दें अपना बहुमूल्य योगदान

बैस ने कहा कि आज दीक्षांत समारोह में उपस्थित उपाधि ग्रहण करने वाले विद्यार्थियों से कहना चाहता हूं कि ज्ञान रूपी अमृत को पाकर आप न केवल अपने कैरियर को प्रशस्त करें स्वस्थ एवं श्रेष्ठ समाज के निर्माण में भी अपना बहुमूल्य योगदान दें। रचनात्मक क्षमता से विषम परिस्थितियों और आपदाओं का सामना कर सके। मंडेला के शब्दों में शिक्षा वह सर्वाधिक शक्तिशाली अस्त्र है जिसके उपयोग से हम पूरी दुनिया की तस्वीर बदल सकते हैं। गरीबी, भूखमरी, बीमारियां, शोषण, हिंसा एवं अशांति अज्ञानता के कारण एवं शिक्षा के अभाव में पनपती है। विद्यार्थी अपना लक्ष्य निर्धारित करें और उस लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में निरंतर आगे बढ़े। जी के शब्दों में, ! ! तक मत रूको जब तक लक्ष्य प्राप्त न हो जाए।

See also  आदमपुर के स्कूलों में बच्चों के साथ करेंगे शिक्षा संवाद | AAP Party MP Sanjay Singh Visit Hisar Adampur Education dialogue with School Children

सामाजिक विकास के लिए जरूरी

उन्होंने कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि कुल 130 मेडल प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों में से 86 छात्रायें तथा 44 छात्र हैं। सामाजिक विकास के लिए जरूरी है। का सबसे प्रभावी माध्यम है। खुशी है कि हमारी बेटियां उच्च शिक्षा के क्षेत्र में बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं और विभिन्न क्षेत्रों में सफलता का परचम लहरा रही हैं। भविष्य के विकसित भारत कि सुनहरी तस्वीर प्रस्तुत करता है।

Edited by: Sanjay Kumara

करें और रहे हर खबर से अपडेट

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments