Wednesday, November 30, 2022
HomeEducationमध्य प्रदेश में छतरपुर जिले के शासकीय स्कूल सबसे अच्छे बालाघाट दूसरे...

मध्य प्रदेश में छतरपुर जिले के शासकीय स्कूल सबसे अच्छे बालाघाट दूसरे स्थान पर भोपाल बी-ग्रेड में भी सबसे फिसड्डी

s प्रदेश के सरकारी स्कूलों में शैक्षणिक गुणवत्ता, नामांकन और मूलभूत सुविधाओं में छतरपुर जिले को पहला, बालाघाट को दूसरा और छिंदवाड़ा को तीसरे स्थान प्राप्त हुआ है। तरह संभाग की ग्रेडिंग में सागर संभाग को पहला, जबलपुर संभाग को दूसरा और नर्मदापुरम को तीसरा स्थान मिला है। इन सभी जिले व संभाग के स्कूलों को ए-ग्रेड मिला है। वहीं भोपाल जिला सबसे पीछे हैं, जबकि भोपाल जिले के शासकीय स्‍कूलों में 300 से ज्यादा अतिशेष शिक्षक और मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हैं। भोपाल जिले की रैंकिंग नहीं सुधरी है। यह है कि स्कूल शिक्षा विभाग के रिपोर्ट कार्ड में भोपाल जिले की पीछे से दूसरे नंबर की रैंक आई है। प्रदेश के 52 जिलों में भोपाल को 51 वां स्थान मिला है।

दरअसल, स्कूल शिक्षा विभाग ने कक्षा पहली से आठवीं तक के लिए सत्र 2022-23 में पहली तिमाही का जिला रिपोर्ट कार्ड गुरुवार को जारी किया। इसमें जून, जुलाई और अगस्त में संपादित हुए हर कार्य और उपलब्धि के आधार पर जिलों को नंबर दिए गए है। की शैक्षिक रैंकिंग प्रणाली विकसित कर शिक्षा पोर्टल पर अपलोड की गई है।

41वें से 10 वां स्थान पर पहुंचा

पिछली रैंकिंग की तुलना में निवाड़ी जिला 31 पायदान की छलांग लगाते हुए 10वां स्थान प्राप्त किया है। वही गुना ने पिछली रैंकिंग 51 में सुधार करते हुए इस बार 22वीं रैंक प्राप्त की है। जिले पिछले बार 35 वें स्थान पर था। बार पीछे खिसकर 51वें स्थान पर पहुंच गया है।

पर की गई है रैंकिंग

प्राथमिकता के आधार पर अनेक कार्य बिंदु निर्धारित किए गए हैं। की रिपोर्ट और रैंकिंग बनाई गई है। इनमें मुख्यत: बच्चों के नामांकन एवं ठहराव, सीखने का प्रतिफल, गुणवत्ता पूर्ण शैक्षिक उपलब्धियां, शिक्षकों का क्षमता संवर्धन, विभिन्न मूल्यांकनों में स्कूलों का प्रदर्शन, समानता, अद्योसंरचना एवं भौतिक और सुशासन प्रक्रियाएं, समग्र शिक्षा योजना के अंतर्गत संचालित कार्यक्रम एवं गतिविधियों आदि मुख्य भागों में बांटा गया है। कुल 32 शामिल हैं।

See also  1 पर 4 शेयर का बोनस देगी ये कंपनी, शेयर ने दिया 52 हफ्ते का बेस्ट परफॉर्मेंस - Hindustan

के स्कूलों को मिला बी ग्रेड

जिलों की ग्रेडिंग में भोपाल को 62.30, इंदौर को 67.19, ग्वालियर को 68.64 व जबलपुर को 69.68 प्वाइंट मिला। सभी बड़े शहरों के स्कूल 60 से 74 अंक ला पाए और इनका प्रदर्शन संतोषजनक रहा और सभी को बी ग्रेड मिला है। प्रदेश के 52 जिलों में से 15 को ए ग्रेड, 35 जिलों को बी ग्रेड और रतलाम जिले का सबसे खराब प्रदर्शन यानी सी ग्रेड मिला है।

गई

-प्लस- (90-100)

– (75-89)

– (60-74)

– (50-59)

– (00-49)

रैंकिंग की तुलना में उल्‍लेखनीय सुधार वाले 10 जिले

– रैंकिंग – वर्तमान रैंकिंग

निवाड़ी-41 -10

-51 -22

– -32 -7

– -37 -13

– -43 -19

– -24 -4

-34 -14

– -47 -27

– -33 -16

-21 -6

पिछली रैंकिंग की तुलना में अधिकतम गिरावट दर्ज करने वाले 10 जिले

– रैंकिंग – वर्तमान रैंकिंग

10 – 45

-16 – 43

-3 -28

-17 -39

-12 -31

-23 -42

-13 -29

– -35 -51

– -5 -20

– -7 – 21

जून, जुलाई और अगस्त माह में जिलों के स्कूलों में संपादित हुए हर कार्य और उपलब्धि के आधार पर जिलों को नंबर दिए गए है। की शैक्षिक रैंकिंग प्रणाली विकसित कर शिक्षा पोर्टल पर अपलोड किया गया है। जिलों ने पिछली रैंकिंग के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन किया है। माह में रैंकिंग जारी की जाएगी।

– , , शिक्षा केंद्र

Posted by: Ravindra Sonic

NaiDunia Local

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments