Thursday, September 29, 2022
HomeBreaking Newsब्रिटेन के इतिहास में पहली बार लिज ट्रस की कैबिनेट में गैर...

ब्रिटेन के इतिहास में पहली बार लिज ट्रस की कैबिनेट में गैर ब्रिटिश लोगों को तरजीह – New PM Liz Truss cabinet is Britain first without white man in top jobs ntc

सत्ता हो है. ने नए प्रधानमंत्री के पर सत्ता की बागडोर संभाल ली है. सत्ता संभालते ही अपनी कैबिनेट की घोषणा कर दी. के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि देश के शीर्ष मंत्री पदों पर गैर ब्रिटिश मूल के लोगों को नियुक्त किया गया है. कैबिनेट में शीर्ष चार में से तीन पदों पर गैर ब्रिटिशों नियुक्त किया गया है. कैबिनेट में एक ही भारतीय के शख्स को जगह दी गई है, सुएला ब्रेवरमैन हैं. को भी मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई. के मंत्रालय में बदलाव नहीं किया गया है. मंत्री के रूप में बरकरार रखा है. सरकार में भी वॉलेस रक्षा मंत्री थे.

ट्रस ने क्वासी क्वार्टेंग (Kwasi Quarteng) को वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी है. के पहले अश्वेत वित्त मंत्री हैं. उनके माता-पिता 1960 के दशक में घाना से ब्रिटेन आकर बस गए थे. ठीक इसी तरह जेम्स क्लेवर्ली (James slim) को विदेश मंत्री नियुक्त किया गया है. ब्रिटेन के पहले अश्वेत विदेश मंत्री हैं.

की मां मूल रूप से अफ्रीकी देश सिएरा लियोन से हैं उनके पिता श्वेत हैं. तौर पर कई बार अश्वेत होने की वजह से मानसिक झेलने की बात स्वीकार कर चुके हैं.

सुएला ब्रेवरमैन (Suella Braverman) ब्रिटेन की कैबिनेट में एकमात्र भारतीय मूल की मंत्री हैं. उनके माता-पिता छह दशक पहले ब्रिटेन आकर बस थे. कैबिनेट में प्रीति पटेल की गृह मंत्री पद संभाला है. से ही अटकलें लगाई जा रही थीं कि लिज ट्रस के चुनाव जीतने पर वह पटेल जगह ब्रेवरमैन को गृह मंत्री नियुक्त करेंगी. वजह से प्रीति पटेल ने ट्रस के चुनाव जीतने के कुछ बाद ही पद से इस्तीफा दे दिया. के बारे में कहा जा रहा है कि उन्हें चुनाव में ट्रस का खुलकर समर्थन करने की वजह से मंत्रिमंडल में जगह दी गई है.

See also  who is invited and who is not?

पहली बार 2002 में अश्वेत शख्स कैबिनेट मंत्री बना

पहले तक ब्रिटेन की सरकारों में शीर्ष पदों पर अधिकतर लोग ही काबिज होते थे. 2002 बोटेंग पहले अल्पसंख्यक मंत्री बने थे. हालांकि ब्रिटेन की सरकारों में गिने-चुने ही अश्वेत कैबिनेट मंत्री रहे हैं.

टैंक ब्रिटिश फ्यूचर के सुंदर कटवाला कहते हैं, की दिशा बदली है. अब यह नस्लीय विभिन्नता (Diversity) न्यू नॉर्मल हो गई है. , ब्रिटेन की सरकारों में अभी तक गृह मंत्रालय, वित्त मंत्रालय और विदेश जैसे तमाम बड़े पदों पर श्वेत लोग ही काबिज रहे हैं.

कि सोमवार को लिज ट्रस ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री चुनाव भारतीय मूल के ऋषि सुनक को हरा दिया था. साथ ही वह ब्रिटेन की 56वीं और देश की तीसरी महिला प्रधानमंत्री बनीं. पहले मार्गरेट थैचर और थेरेसा प्रधानमंत्री पद संभाल हैं. महिला प्रधानमंत्री भी कंजर्वेटिव पार्टी से ही थीं.

भी देखें

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments