Tuesday, September 27, 2022
HomeBreaking Newsटीएमसी ने केंद्रीय एजेंसियों की जांच पर उठाए सवाल; विपक्षी दलों ने...

टीएमसी ने केंद्रीय एजेंसियों की जांच पर उठाए सवाल; विपक्षी दलों ने कहा-और गिरफ्तारियां होंगी – tmc raised questions on investigation of central agencies, opposition parties said more arrests would be made

कोलकाता, 12 अगस्त (भाषा) पशु तस्करी के एक मामले में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता अनुब्रत मंडल की गिरफ्तारी के खिलाफ रैलियों और जवाबी रैलियों से शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की सियासत गरमा गई। राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी ने जांच एजेंसी की निष्पक्षता पर सवाल उठाया जबकि विपक्षी दलों ने ‘बुराई पर अच्छाई’ की जीत करार दिया।

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने बृहस्पतिवार सुबह मंडल को पशु तस्करी मामले की जांच में कथित तौर पर सहयोग नहीं करने के आरोपों के बाद वीरभूम जिले के इलाके इलाके में उनके आवास से गिरफ्तार किया। बाद में, सीबीआई की विशेष अदालत ने मंडल को केंद्रीय एजेंसी की 10 दिन की हिरासत में भेज दिया।

टीएमसी ने शुक्रवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों में विरोध रैलियां निकालीं और सीबीआई तथा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पर केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ”मुखौटा संगठनों” के रूप में काम करने का आरोप लगाया। और सीबीआई से निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर पोस्टर और तख्तियां लिए हुए तृणमूल की छात्र और युवा इकाई के सदस्यों ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में रैली की।

तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद (टीएमसीपी) के प्रदेश अध्यक्ष त्रिनंकुर भट्टाचार्य ने कहा, ”हमें केंद्रीय एजेंसियों के काम करने के तरीके पर गंभीर संदेह है। हमने देखा है कि जब भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे भाजपा नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करने की बात आती है तो वे चुप्पी साधे रहते हैं।”

उन्होंने दावा किया कि भाजपा नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों में केंद्रीय एजेंसियां ​​​​ गति से काम करती हैं। भट्टाचार्य ने सवाल किया, ”भाजपा नेताओं या जांच एजेंसियों के चंगुल से बचने के लिए भाजपा में शामिल होने वालों के खिलाफ ऐसे ही मामलों का क्या हुआ?”

See also  Bjp Core Group Meeting Today Latest Update, Each Seat Will Be Discussed - Bjp Core Group Meeting: शिमला में भाजपा कोर ग्रुप की बैठक, सुरेश कश्यप बोले- जल्द हिमाचल आएंगे पीएम

राज्य के कई जिलों में विरोध रैलियां निकाली गईं, जिनमें वीरभूम में मंडल का गृहनगर, साथ ही पूर्वी मिदनापुर, पश्चिम मिदनापुर, पुरुलिया, सिलीगुड़ी, बांकुड़ा और कोलकाता शामिल हैं।

इस बीच, विपक्षी दलों भाजपा, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और कांग्रेस ने गिरफ्तारी पर खुशी जताते हुए राज्य जवाबी रैलियों नहीं जब सत्तारूढ़ के सभी शीर्ष नेता भ्रष्टाचार के मामलों में सलाखों ️ भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ”पार्थ चटर्जी और अनुब्रत मंडल की गिरफ्तारी तो अभी शुरुआत है।” तृणमूल के वरिष्ठ नेता और मंत्री पार्थ चटर्जी को 23 जुलाई को ईडी ने स्कूल भर्ती घोटाले के संबंध था। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि तृणमूल नेता मंडल की गिरफ्तारी ‘बुराई पर अच्छाई’ की जीत का प्रतीक है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments