Tuesday, February 7, 2023
HomeTrendingजान लें मुहूर्त, मंत्र और सरस्वती पूजा विधि, नौकरी प्राप्ति का उपाय...

जान लें मुहूर्त, मंत्र और सरस्वती पूजा विधि, नौकरी प्राप्ति का उपाय आज 4 शुभ योगों में है वसंत पंचमी. – Rashifal Today

आज 26 जनवरी को देशभर में वसंत पंचमी पर्व मनाया जा रहा है. आज के दिन सरस्वती पूजा और गणतंत्र दिवस का उत्सव मनाया जा रहा है. पंचांग के अनुसार, माघ शुक्ल पंचमी को वसंत पंचमी और सरस्वती पूजा का आयोजन करते हैं. सरस्वती पूजा को श्री पंचमी भी कहते हैं. इस तिथि को मां सरस्वती का प्रकाट्य हुआ था. आज विधिपूर्वक माता सरस्वती की पूजा करने से शिक्षा प्रतियोगिता में सफलता मिलती है और नौकरी मिलने में भी आसानी होती है. काशी के ज्योतिषाचार्य चक्रपाणि भट्ट से जानते हैं वसंत पंचमी मुहूर्त, सरस्वती पूजा की विधि.

वसंत पंचती 2023 मुहूर्त

माघ शुक्ल पंचमी तिथि का प्रारंभ: 25 जनवरी, बुधवार, दोपहर 12 बजकर 34 मिनट से

माघ शुक्ल पंचमी तिथि का समापन: 26 जनवरी, गुरुवार, सुबह 10 बजकर 28 मिनट पर

रवि योग: आज शाम 06:57 बजे से कल सुबह 07:12 बजे तक

सर्वार्थ सिद्धि योग: आज शाम 06:57 बजे से कल सुबह 07:12 बजे तक

शिव योग: आज सुबह से दोपहर 03:29 बजे तक

सिद्ध योग: आज दोपहर 03:29 बजे से कल दोपहर 01:22 बजे तक
राज पंचक: पूरे दिन

सरस्वती पूजा का मुहूर्त 2023
आज सरस्वती पूजा का शुभ मुहूर्त प्रात: 07 बजकर 12 मिनट से दोपहर 12 बजकर 34 मिनट तक है. इस मुहूर्त में शुभ-उत्तम मुहूर्त सुबह 07:12 बजे से सुबह 08:33 बजे तक है. चर- सामान्य मुहूर्त सुबह 11 बजकर 13 मिनट से दोपहर 12 बजकर 34 मिनट तक है.

सरस्वती पूजा मंत्र
या देवी सर्वभूतेषु बुद्धि-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥

सरस्वती बीज मंत्र
ऐं महासरस्वत्यै नमः

See also  आज से इन मोबाइल में काम नहीं करेगा WhatsApp, क्या आपके फोन में भी हो जाएगा बंद? – Rashifal Today

सरस्वती गायत्री मंत्र
ओम वागदैव्यै च विद्महे कामराजाय धीमहि, तन्नो देवी प्रचोदयात्‌.

सरस्वती पूजा विधि
आज प्रात: स्नान के बाद सबसे पहले सूर्य देव को अर्घ्य दें. फिर माता सरस्वती की मूर्ति या तस्वीर की स्थापना करें. उसके बाद माता सरस्वती को सफेद गुलाब, सफेद कमल, पीले फूल, अक्षत्, तुलसी के पत्ते, कुमकुम, रोली, पीला गुलाल, धूप, दीप, गंध, नैवेद्य, फल आदि अर्पित करें. इस दौरान सरस्वती माता के मंत्र का उच्चारण करें. फिर माता सरस्वती को बेसन के लड्डू, केसर भात, पीले चावल आदि का भोग लगाएं.

इसके पश्चात सरस्वती वंदना या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता…पढ़ें. सरस्वती चालीसा का पाठ करें. फिर विधिपूर्वक हवन करें. उसके बाद घी के दीपक से मां सरस्वती की आरती करें. रक्षा सूत्र बांधें और पीले चंदन या केसर का तिलक लगाएं.

नौकरी के लिए उपाय
जो लोग नौकरी के लिए परीक्षा देने जा रहे हैं या इंटरव्यू देने जा रहे हैं, वे माता सरस्वती को अर्पित केसर या पीले चंदन से अपने माथे पर तिलक लगाकर जाएं. आप सरस्वती बीज मंत्र या सरस्वती गायत्री मंत्र का जाप करते हैं तो भी आपको कार्यों सफलता प्राप्त होगी.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments