Thursday, September 29, 2022
HomeEducationछग माध्यमिक शिक्षा मंडल की निगरानी में परीक्षा व मूल्यांकन स्थानीय स्तर...

छग माध्यमिक शिक्षा मंडल की निगरानी में परीक्षा व मूल्यांकन स्थानीय स्तर पर होगा, तिमाही परीक्षा 26 से | Under the supervision of the Board of Secondary Education, the examination and evaluation will be done at the local level, from the quarter examination 26

  • Hindi news
  • local
  • Chhattisgarh
  • balod
  • Under the supervision of the Council for Secondary Education, the research and evaluation will take place at the local level, starting from the quarterly survey 26

बालोदघंटा पहले

  • लिंक

गुंडरदेही ब्लॉक के गुरेदा उमावि में पढ़ाई करते छात्र-छात्राएं।

  • शिक्षा का स्तर परखने स्कूलों में 30% पूरे हुए कोर्स से

जिले के पांचों ब्लाक में बीते तीन माह के भीतर पढ़ाए गए कोर्स का आंकलन करने के लिए प्राइमरी से लेकर हायर सेकेंडरी स्कूल में विद्यार्थियों के लिए तिमाही परीक्षा हो रही है। अब तक जिले में 1420 स्कूलों में अब तक 30 फीसदी कोर्स ही पूरा हो सका है। हुए कोर्स के भीतर से सवाल पूछे जाएंगे। में एक लाख से ज्यादा विद्यार्थी शामिल होंगे।

जिले के 1420 हाईस्कूल, हायर सेकेंडरी, प्राथमिक व माध्यमिक स्कूलों में 26 सितंबर से तिमाही परीक्षा शुरू होगी, जो एक सितंबर तक चलेगी। एक लाख से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल होंगे। कक्षा 9वीं एवं 11वीं की परीक्षा सुबह 11 से दोपहर एक बजे तक और कक्षा 10वीं व 12वीं की परीक्षा दोपहर 2 से शाम 4 बजे तक होगी।

विषय की परीक्षा होगी। संबंध में छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल व स्थानीय स्तर पर शिक्षा विभाग की ओर से समय सारिणी जारी कर दी गई है। पाठ्यक्रम से सवाल पूछे जाएंगे। का मूल्यांकन स्थानीय स्तर पर किया जाएगा।

को कोर्स पूरा कराने के दिए निर्देश
डीईओ प्रवास बघेल ने सभी बीईओ, संकुल समन्वयकों, प्राचार्यों को कोर्स पूरा कराने का निर्देश दिया है। हो है। माशिमं के सचिव प्रो.व्हीके गोयल ने अफसरों को निर्देश दिया है कि परीक्षा के समय शासन की ओर से यदि कोई अवकाश स्थानीय स्थानीय अवकाश घोषित किया जाता है, तब भी परीक्षाएं निर्धारित समय के अनुसार होंगी। माशिमं आवश्यकता होने पर ही परीक्षा तारीख व समय में कभी भी परिवर्तन कर सकता है।

वर्ष 2019 में 40 फीसदी कोर्स से पूछे गए थे सवाल
2019 में आयोजित तिमाही परीक्षा में प्रश्न पत्र 40 प्रतिशत कोर्स पूरा होने के हिसाब से पूछे गए थे। जबकि इस बार 30 प्रतिशत कोर्स ही पूरा हो सके, तो शिक्षा विभाग ने 30 फीसदी पूरा हुए कोर्स के अनुसार प्रश्न पत्र तैयार किया गया है। हालांकि 2019 में कक्षा 12वीं के हिन्दी व अंग्रेजी विषय के सिलेबस में बदलाव होने और शैक्षणिक सत्र शुरू होने के एक माह बाद किताबें मिली थी।

को परखेंगे शिक्षा का स्तर सुधाएंगे
इस परीक्षा के आधार पर एक-एक विद्यार्थी को शिक्षक परखेंगे कि तैयारी कैसी है। से आगे शिक्षा के स्तर को बेहतर करने योजना बनाई जाएगी। हालांकि इस परीक्षा में मिलने वाले अंक का कोई वार्षिक परीक्षा में कोई महत्व है, क्योंकि वार्षिक परीक्षा में नंबर नहीं जुड़ेगा। का मूल्यांकन करने के हिसाब से परीक्षा ली जा रही है। स्कूलों में होने वाले हर गतिविधियों पर जिला व राज्य के अफसर मानिटरिंग कर रहे हैं।

किस विषय की परीक्षा देंगे विद्यार्थी
कक्षा 10वीं के छात्र-छात्राएं 26 सितंबर को हिंदी विषय की परीक्षा देंगे। 27 अंग्रेजी, 28 को संस्कृत, 29 को गणित, 30 को सामाजिक विज्ञापन और एक अक्टूबर को विज्ञान विषय की परीक्षा होगी। इसी तरह कक्षा 12वीं के छात्र-छात्राएं 26 को अंग्रेजी, 27 को हिंदी, 28 को इतिहास, भौतिकी, लेखाशास्त्र, 29 को भूगोल, रसायन, व्यवसाय अध्ययन, 30 को राजनीति विज्ञान, जीवविज्ञान, एक अक्टूबर को अर्थशास्त्र, गणित विषय की परीक्षा होगी I

कक्षा 9वीं की 26 को हिंदी, 27 को अंग्रेजी, 28 को संस्कृत, 29 को गणित, 30 को सामाजिक विज्ञान, एक अक्टूबर को विज्ञान विषय की परीक्षा होगी। कक्षा 11वीं की 26 को अंग्रेजी, 27 को हिंदी, 28 को इतिहास, भौतिकी, लेखाशास्त्र, 29 को भूगोल, रसायन, व्यवसाय अध्ययन, 30 को राजनीति विज्ञान, जीव विज्ञान, एक अक्टूबर को अर्थशास्त्र, गणित विषय की परीक्षा होगी।

See also  साक्षरता वह शक्ति है जिससे हम सभी चुनौतियों का सामना कर सकते हैं | Literacy is the power with which we can face all challenges
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments