Sunday, September 25, 2022
HomeBreaking Newsकभी पूरी दुनिया में बिकता था Johnson Baby Powder, अब कंपनी ने...

कभी पूरी दुनिया में बिकता था Johnson Baby Powder, अब कंपनी ने किया उत्पादन बंद करने का फैसला, जानिए पूरा विवाद

Author: Abhinav ShalyaPublication date: Sun 18 Sep 2022 18:25 (IST)Date Updated: Sun Sep 18 2022 6:25 PM (IST)

, जॉनसन बेबी पाउडर (Johnson Baby Power), महाराष्ट्र सरकार की ओर से बैन लगाने के बाद एक बार फिर से चर्चा में आ गया है। के बाद महाराष्ट्र में जॉनसन बेबी पाउडर को बनाने वाली कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन प्राइवेट लिमिटेड इसकी मैन्युफैक्चरिंग और बिक्री नहीं कर पाएगी।

इसके साथ ही महाराष्ट्र सरकार के खाद्य और औषधि प्रशासन मुंबई और मुलुंड में जॉनसन बेबी पाउडर के मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी के लाइसेंस को भी कैंसिल कर दिया है। दरअसल कुछ दिनों पहले महाराष्ट्र एफडीए ने जॉनसन बेबी पाउडर के कुछ सैंपल मुलुंड, मुंबई, पुणे और नासिक से लिए थे, जिसमें यह पाउडर बच्चों की सेहत के लिए सही नहीं पाया। सरकार ने तत्काल प्रभाव से इस पर रोक लगा दी है।

1947 बेचा जा रहा है जॉनसन बेबी पाउडर

कंपनी की बेवसाइट के अनुसार, आजादी के बाद 1947 में अमेरिका की बहुराष्ट्रीय कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने भारत में कदम रख दिया था। बाद से ही कंपनी पूरे भारत में जॉनसन बेबी पाउडर बेच रही है। का बेबी पाउडर बड़े पैमाने पर भारतीय घरों में उपयोग किया जाता है। के पास इसके साथ बेबी प्रोडक्ट्स में शैंपू से लेकर साबुन तक की बड़ी रेंज है।

त्वचा के लिए खराब

एफडीए ने सैंपल की रिपोर्ट के आधार पर कहा है कि कंपनी का प्रोडक्ट जॉनसन बेबी पाउडर बच्चों की त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है। की ओर से लिए गए सैंपल में पाउडर मापदंडों पर खरा नहीं उतरा है।

See also  Share Market News Updates Live | Business News LIVE | 15 Sept 22 | CNBC Awaaz Live | Stock Ideas - CNBC Awaaz.

पाउडर विवाद

बेबी पाउडर को पहली बार 1894 में लॉन्च किया गया था। के बाद पहली बार इस पाउडर के हानिकारक होने का मामला 1930 में सामने आया था। बताया गया कि यह पाउडर त्वचा के लिए हानिकारक है। बीच पाउडर को लेकर कई शोध प्रकाशित किए गए जिसमें यह दावा किया गया कि इस पाउडर से कैंसर होने का खतरा हो सकता है।

बड़ा मोड़ तब आया जब समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने रिचर्स जारी की जिसमें बताया गया कि जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी वर्षों से इस बात को जानती थी कि उसके पाउडर में एस्बेस्टस मौजूद है। कैंसर पैदा करने वाले पदार्थ के रूप में जाना जाता है। रिपोर्ट में कंपनी के अंदरूनी रिकॉर्ड और गवाहों के हवाले से बताया गया कि कंपनी के द्वारा उत्पादित 1971 से 2000 के बीच बेबी पाउडर में एस्बेस्टस की थोड़ी – थोड़ी मात्रा पाई गई थी।

14 03 2019 jj14 19043796

रही है मुकदमों का सामना

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी विदेशों में करीब 38,000 मुकदमों का सामना कर रही है, इसमें लोगों की ओर से कंपनी के ऊपर आरोप लगाया गया है कि बेबी पाउडर में एस्बेस्टस होने के उन्हें ओवरी कैंसर हो गया है। पर कंपनी ने कहा है कि दुनिया भर के चिकित्सा विशेषज्ञों दशकों से अपने स्वतंत्र विश्लेषण में इस बात को कहा है कि बेबी पाउडर बच्चों के लिए सुरक्षित है इसमें कोई भी पदार्थ नहीं है और ना ही इससे का भी i

15 12 2018 johnson and johnson baby powder 18750604

का उत्पादन बंद करेगी कंपनी

पिछले महीने कंपनी ने ऐलान किया था कि लगातार चल रहे विवादों के कारण 2023 में वैश्विक स्तर पर टैल्क आधारित उत्पादों की बिक्री बंद कर देगी।

See also  Bad Cholesterol Symptoms: 3 Changes Are Visible In The Eyes When Cholesterol Increases, Get It Checked Immediately, Otherwise It Will Be Difficult Later

पढ़ें-

विदेशी निवेशकों का भारतीय शेयर बाजार पर भरोसा बरकरार, सितंबर में निवेश किए 12,000 करोड़ रुपये

Direct tax collection में भारी उछाल, 30 प्रतिशत बढ़कर 8.3 लाख करोड़ के पार पहुंचा

Edited by: Abhinav Shalya

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments