Saturday, December 3, 2022
HomeEducationकन्याओं को चुनरी पहनाकर दी शिक्षा सामग्री और भोजन के पैकेट भी...

कन्याओं को चुनरी पहनाकर दी शिक्षा सामग्री और भोजन के पैकेट भी बांटे | Distributed education material and food packets to the girls by wearing chunari

सीहोर19

  • लिंक

शहर के विश्रामघाट स्थित मरीह माता मंदिर में नवरात्रि के अवसर पर विशेष पूजा अर्चना की जा रही है। बुधवार को यहां पर उपस्थित सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने तीसरे दिन मां के तीसरे स्वरूप मां चंद्रघंटा की पूजा-अर्चना की। के बाद आरती की गई। दर्जन से अधिक कन्याओं को भोजन के पैकेटों का वितरण किया। . उमेश दुबे ने बताया कि नवरात्रि के तीसरे दिन मां के तृतीय स्वरूप माता चंद्रघंटा की पूजा-अर्चना की जाती है।

मान्यताओं के अनुसार माता चंद्रघंटा को राक्षसों की वध करने वाला कहा जाता है। माना जाता है मां ने अपने भक्तों के दुखों को दूर करने के लिए हाथों में त्रिशूल, तलवार और गदा रखा हुआ है। चंद्रघंटा के मस्तक पर घंटे के आकार का अर्धचंद्र बना हुआ है, जिस वजह से भक्त मां को चंद्रघंटा कहते हैं। मंदिर के व्यवस्थापक रोहित मेवाड़ा ने बताया कि बुधवार को शाम को कन्या भोज का आयोजन किया गया था। इस दौरान समाजसेवी दिलीप रुठिया, प्रेमा रुठिया ने पांच दर्जन से अधिक कन्याओं को चुनरी पहनाकर, शिक्षा सामग्री के साथ भोजन के पैकेट प्रदान किए।

मां कुष्मांडा की पूजा
नवरात्रि के तीसरे दिन विधि-विधान से मां दुर्गा के तीसरे स्वरूप माता चंद्रघंटा की आराधना करनी चाहिए। अराधना ऊं देवी चंद्रघंटायै नम का जप करके की जाती है। चंद्रघंटा को सिंदूर, अक्षत, गंध, धूप, पुष्प अर्पित करें। मां को दूध से बनी हुई मिठाई का भोग भी लगा सकती हैं। हर दिन नियम से दुर्गा चालीस और दुर्गा आरती करें। मरीह माता मंदिर में कूष्मांडा मां की पूजा अर्चना की जाएगी।

See also  शिक्षा मंत्रालय ने किया युवा-2 प्रोग्राम लॉन्च | Ministry of Education launched Yuva-2 program
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments