Friday, September 30, 2022
HomeBreaking Newsआनंद शर्मा के इस्तीफे के बाद बोले BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा- वो...

आनंद शर्मा के इस्तीफे के बाद बोले BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा- वो मेरे ‘निजी दोस्त’ – BJP President jp nadda Meets Congress Leader Anand Mishra says We have common possibilities ntc

के सीनियर लीडर आनंद शर्मा ने हिमाचल प्रदेश की चुनाव संचालन के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. में लोग कयास लगा रहे हैं कि क्या वो बीजेपी ज्वॉइन करने जा रहे हैं? शर्मा ने साफ किया है कि वो बीजेपी में नहीं जा रहे हैं और पार्टी के प्रत्याशियों के लिए प्रचार करते रहेंगे. राजनीति में ‘ कहने ‘ के भी कई अर्थ होते हैं. जेपी नड्डा ने आजतक से खास बातचीत में इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

नेशनल जे. . कहना है कि आनंद शर्मा और वो निजी जीवन में दोस्त हैं. उन्होंने कहा था कि वो इस कार्यक्रम (हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्रों का सम्मेलन) में नहीं आ सकते. ही आयोजकों से कहा कि उन्हें सभी पार्टियों के नेताओं को बुलाना चाहिए. हिमाचल प्रदेश चुनाव संचालन आनंद शर्मा का इस्तीफा, निजी फैसला है. जुड़ाव हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र के तौर पर ही है.

. . नड्डा ने कहा कि आनंद शर्मा ने उनसे पार्टी (BJP) ज्वॉइन करने के बारे में कोई बात नहीं की है. लेकिन निजी तौर पर हम एक-दूसरे को जानते हैं, हमारे पास ‘साझा संभावनाएं’ हैं.

अपने कॉलेज के वक्त को याद करते हुए जेपी नड्डा ने – के दिनों की यादें ताजा हो गईं. तौर था. ग्रेजुएशन यहीं हुई और राजनीतिक गतिविधियों में लिया. यूनिवर्सिटी में हम सहमत और असहमत दोनों होते थे.

पिछले महीने भी जब आनंद शर्मा और जेपी नड्डा की मुलाकात हुई थी, भी राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं होने लगी थीं. में उनका चुनावी राज्य हिमाचल प्रदेश में पार्टी के अहम पद इस्तीफा देना कई सवाल पैदा करता है. में इस साल के तक विधानसभा चुनाव हैं. बीजेपी यहां अभी सत्ता में है, जबकि आम आदमी पार्टी भी चुनाव के लिए जोर-आजमाइश कर रही है.

See also  Reservation Policy In Jharkhand, OBC Quota Increased - कुर्सी जाने की आशंका के बीच हेमंत सोरेन का मास्टरस्ट्रोक- OBC रिजर्वेशन बढ़ाया, स्थानीय नीति में भी बदलाव

आदमी पार्टी के नेता सिसोदिया पर सीबीआई की कार्रवाई को लेकर भी जे. . अपनी दी. कहा कि आम आदमी पार्टी चेहरा अब आ गया है. काम करेगा, राजनीतिकरण नहीं चाहिए. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उन्होंने भी SIT का सामना किया, लेकिन उन्होंने कभी भी इसकी आलोचना नहीं की. वो इतने (मनीष सिसोदिया) इतने ही ईमानदार हैं, तो अदालत जाएं. ED पास जाएं और जवाब दें. के हिमाचल प्रदेश में सत्ता में वापस लौटने की भी बात कही.

ने हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस की चुनाव संचालन समिति के पद से इस्तीफा दे दिया है. वजह लगातार हो रहे और बहिष्कार को है. जा रहा है कि सोनिया गांधी को भेजे अपने इस्तीफे में उन्होंने अपनी उपेक्षा का आरोप लगाया था. शर्मा ने अपने इस्तीफे में बैठकों में न बुलाए जाने के ही कई बातों का जिक्र किया है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments